Home Entertainment जन्मदिन विशेष : ए. आर. रहमान से जुड़ी 30 रोचक बातें !

जन्मदिन विशेष : ए. आर. रहमान से जुड़ी 30 रोचक बातें !

SHARE

विदेश में भारत की ‘जय हो’ करवाने वाले……भारतीय सुरों के बादशाह ए. आर रहमान हिन्दी फिल्मों के एक फेमस म्यूजिशियन हैं. उन्होंने अपनी आवाज का जादू पूरे भारत पर चला दिया है जिसे पूरी दुनिया में एक अलग पहचान मिली. ऑस्कर विनर ए. आर रहमान अपनी स्कूली शिक्षा भी पूरी नहीं कर पाए थे…लेकिन उन्होंने साबित किया कि अगर किसी इन्सान के अन्दर कुछ बनने की लगन हो तो शिक्षा जरूरी नहीं. आज सुरों के बादशाह ए.आर. रहमान का जन्मदिन है तो हम आपके लिए उनके जीवन से जुड़ी कुछ बातों को संजोकर लाए हैं.

1
ए. आर. रहमान से जुड़ी 30 रोचक बातें.

तो चलिए आपको ले चलते हैं ए.आर. रहमान के जीवन के सफर पर…..

1. ए.आर. रहमान का जन्म 6 जनवरी 1967 को चेन्नई, तमिलनाडु, भारत में हुआ. उनके पिता आर.के. शेखर मलयाली फ़िल्मों में संगीत देते थे. तो ये कहना गलत नहीं होगा कि रहमान को संगीत अपने पिता से विरासत में मिली है.

2. जन्म के समय उनका नाम ए.एस. दिलीप कुमार था जो बाद में इस्लाम धर्म अपनाने के कारण ए. आर. रहमान बने.

3. जब रहमान 8 साल के थे तब उनके पिता आर. के. शेखर का देहांत हो गया और उनके घर में आर्थिक तंगी आ गई.

4. किसी तरह संगीत के music instruments किराए पे देकर गुजर-बसर किया. हालात इतने बिगड़ गए कि उनके परिवार को इस्लाम अपनाना पड़ा. 70 के दशक में रहमान ने इस्लाम धर्म ग्रहण कर लिया था.

5. रहमान ने संगीत की आरंभिक शिक्षा मास्टर धनराज से प्राप्त की और मात्र 11 साल की उम्र में अपने बचपन के मित्र शिवमणि के साथ रहमान बैंड रुट्स के लिए की-बोर्ड (सिंथेसाइजर) बजाने का काम करने लगे.

6. वे इलियाराजा के बैंड के लिए काम करते थे. साल 1991 में पहली बार रहमान ने गाना रिकॉर्ड करना शुरू किया.

7. रहमान ने अपने शुरुआती कैरियर में कुछ टीवी विज्ञापन एवं धारावाहिकों में अपने संगीत को जिंगल्स के रूप में दिया.

8. रहमान को सबसे बड़ी कामयाबी साल 1992 में तब मिली जब फेमस डायरेक्टर मणिरत्नम ने उन्हें अपनी फ़िल्म ‘रोज़ा’ का संगीत देने की पेशकश की.

9. ‘रोजा’ फिल्म के सारे गाने सपपरहिट हुए जिसे लोग आज भी सुनते हैं और इसी फ़िल्म के लिए उन्हें ‘राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार’ से सम्मानित भी किया गया. इसके अलावा फिल्मफेयर पुरस्कार भी दिया गया.

10. रहमान ने 12 मार्च 1995 में सायरा बानू से शादी कर ली थी और उनके तीन बच्चे हैं खातिजा, रहीमा और अमीन.

11. उसके बाद पुरस्कार के साथ शुरू हुआ रहमान की जीत का सिलसिला जो आज तक जारी है. रहमान के गानों की 200 करोड़ से भी अधिक रिकॉर्डिंग बिक चुकी हैं.

12. रहमान जब कुंवारे थे तब वे अपने लिए तीन अक्षरों का इस्तेमाल करते थे : एल एफ ए. इसका मतलब था : लव फेलियर्स एसोसिएशन.

13. रहमान हमेशा रात में ही रिकॉर्डिग करते हैं, लेकिन लता मंगेशकर के लिए सुबह रिकॉर्डिंग करते हैं. लता मंगशेकर का मानना है कि सुबह उनकी आवाज में ताजगी होती है इसलिए रहमान उनके साथ रिकॉर्डिंग सुबह करते हैं.

14. रहमान के भले ही दुनियाभर में करोड़ों फैंस हैं लेकिन उनकी बेटी खातिजा को स्कूल में पिता का ऑटोग्राफ देना पसंद नहीं है. यहां तक कि वह रहमान को अपने स्कूल ना आने तक के लिए कह चुकी है.

15. बचपन से ही काम करने की वजह से रहमान की स्कूल में अटेंडेंस कम होने लगी और फिर उन्हें 15 साल की उम्र में पढ़ाई छोड़नी पड़ी.

16. यह भी दिलचस्प इत्तेफाक है कि दिलीप कुमार उर्फ एआर रहमान की पत्‍‌नी का नाम भी सायरा बानू है और मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार की पत्‍‌नी का नाम भी सायरा बानू ही है.

17. रहमान को मीठी कॉफी पीना बहुत ज्यादा पसन्द है. उन्हें जानने वाले लोग बताते हैं कि रहमान के कॉफी के कप में एक-चौथाई कप तो चीनी ही होती है.

18. रहमान को अपने काम में किसी की डिस्टर्बेंस नहीं पसन्द यहां तक कि जब वे काम कर रहे होते हैं तो स्टूडियो में अपनी पत्‍‌नी या बच्चों को भी नहीं आने देते.

19. रहमान की सर्वश्रेष्ठ फ़िल्मों में ‘रोज़ा’, ‘बॉम्बे’, ‘दिल से’, ‘लगान’, ‘ताल’, ‘वन्दे मातरम’, ‘जब तक है जान’ शामिल है. हाल की कुछ फ़िल्मों में ‘जोधा अकबर’, ‘रंग दे बसंती’, ‘दिल्ली 6’ एवं ‘स्लमडॉग मिलेनियर’ शामिल है.

20. रहमान ने केवल भारतीय ही नहीं बल्कि विश्व के कई बड़े कलाकारों के साथ प्रशंसनीय संगीत दिया है.

21. टाइम्स पत्रिका ने उन्हें ‘मोजार्ट ऑफ मद्रास’ की उपाधि दी है. साथ ही संगीत में शानदार योगदान के लिए ‘मॉरीशस नेशनल अवॉर्ड्स’, ‘मलेशियन अवॉर्ड्स’ भी दिये गये.

22. एक बच्चे के तौर पर रहमान को दूरदर्शन वंडर्स बलून में देखा जा सकता था, जहां एक ही समय में एक साथ 4 की-बोर्ड बजाने के लिये वे प्रसिद्ध थे.

23. रहमान बचपन में कंप्यूटर इंजिनियर बनना चाहते थे लेकिन आर्थिक तंगी के कारण उनका ये सपना पूरा नहीं हो सका.

24. स्लमडॉग मिलियनेयर को छोड़कर रहमान ने हॉलीवुड फिल्मों में भी काफी पहचान बनाई है जिसमे 127 ऑवर और लॉर्ड ऑफ़ वॉर शामिल है.

25. ऑस्कर विजेता गाना “जय हो” को पहले सलमान खान की फिल्म युवराज के लिये गाया जाने वाला था.

26. जो की-बोर्ड रहमान बचपन में चलाते थे वह आज चेन्नई में उनके स्टुडियो में रखा गया है.

27. अंर्तराष्ट्रिय सफलता के बावजूद रहमान ने दक्षिण भारतीय फिल्मों में गाना कभी नहीं छोड़ा.

28. रहमान ने 4 राष्ट्रीय अवार्ड्स, 15 फिल्मफेयर अवार्ड्स और 14 दक्षिण फिल्मफेयर अवार्ड साल 2014 तक जीते हैं. 138 पुरस्कारों के लिये उनका नाम नॉमिनेट किया गया था जिनमें से उन्होंने 117 पुरस्कार अपने नाम किये हैं. यही नहीं एक ही साल में 2 ऑस्कर पुरस्कार जीतने वाले वे पहले एशियाई है.

29. एयरटेल की फेमस टोन को भी संगीतकार रहमान ने ही गाया है, जो दुनिया की सबसे ज्यादा डाउनलोड की जाने वाली टोन बनी, जिसे 150 मिलियन से भी ज्यादा लोगों ने डाउनलोड किया था.

30. ब्रिटिश भारतीय फिल्म स्लमडॉग मिलेनियर में उनके संगीत के लिए ऑस्कर अवार्ड और साल 2009 के लिये 2 ग्रैमी पुरस्कार एक स्लम डॉग मिलेनियर के गीत जय हो…. के लिये, दूसरा सर्वश्रेष्ठ साउंडट्रैक व सर्वश्रेष्ठ फिल्मी गीत के लिये.

Facebook Comments