दूध और दही को छोड़ के कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेने वाले ध्यान दें!

आमतौर पर आज एक चलन सा चल गया है. लोग अपनी कैल्शियम की कमी दूध और दही जैसी प्रकृतिक चीजों से पूरी करने के बजाय कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेने लगे हैं.हालांकि आज की इस भागदौड़ भरी लाइफस्टायल कैल्शियम सप्लीमेंट्स की गोलियां हमारी कैल्शियम की कमी को पूरा करने में मदद करती हैं. इसलिये अगर बहुत जरूरत हो तभी इन गोलियों का इस्तेमाल करें.लेकिन जब आप कैल्शियम सप्लीमेंट्स ले रहे हों तो इन बातों काजरूर ध्यान रखें  –

1-अगर आपको कैल्शियम की कमी है तो कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेने की जरूर पड़ सकती है .वैज्ञानिकों के अनुसार शरीर को लगभग रोजाना 1000 मिलीग्राम कैल्शियम की जरूरत पड़ती है. लेकिन सप्लीमेंट्स ले रहे हैं तो एक साथ 1000 मिलीग्राम ना लें,बल्कि 500 मिलीग्राम की दो टेबलेट्स दिन में दो बार लें.

2-कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेने का सही समय रात में हैं.इसलिये हो सके तो ये रात में ही लें.

3-कैल्शियम बहुत सारी दवाईयों के साथ रिएक्ट करता है.जैसे पेनकिलर्स के साथ, मल्टी विटामिंस और लैक्जिेटिव के भी साथ. इसलिए इन सबके साथ कैल्शियम टैबलेट लेने से बचें.

4-जो लोग आयरन का सप्लीमेंट्स ले रहे हों. उन्हें भी कैल्शियम और आयरन एक साथ में लेने से बचना चाहिये.

5-महिलाओं को मीनोपोज के बाद, प्रेग्नेंसी के बाद ब्रेस्‍टफीडिंग करवाने के दौरान कैल्शियम की जरूरत अधिक पड़ती है. इसलिये डॉक्टर्स की सलाह पर कैल्शियम लें.

6- बढ़ते बच्चों को कैल्शियम की जरूरत पड़ती है.डॉक्टर की सलाह पर आप भी कैल्शियम ले सकते हैं.

7-नियमित कैल्शियम ले रहे हैं तो ब्लड टेस्ट करवाते रहें. कहीं कैल्शियम की ज्यादा मात्रा शरीर में ना हो जाए.क्योंकि अगर ऐसा हुआ तो ये आपके लिये नुकसानदायक हो सकता है.

Loading...

Comments

Comments

comments