Gazab : यहां जान पर खेलकर बच्चे स्कूल जाते हैं ?

बचपन की शरारतें आपको याद हैं ? अच्छा गिनकर बताइये कितनी बार ऐसा हुआ है जब आपने घर पर या स्कूल में झूठ बोलकर, क्लास बंक करकर दोस्तों के साथ मस्ती की है? जाहिर सी बात है सबने की होगी. लेकिन नेपाल का एक गांव ऐसा भी है, जहां के बच्चे रोज सुबह अपनी जान पर खेल कर स्कूल जाते हैं.

जिस रास्ते से गुजर कर वो स्कूल जाते हैं, उस रास्ते पर इस बात की गारंटी भी नहीं है कि वो वापिस घर ज़िन्दा लौटेंगे भी या नहीं. सेंट्रल नेपाल के बेनिघाट जिले के ढाइंग गांव के बच्चे रोज मौत की बाज़ी खेल कर पढ़ने के लिए स्कूल जाते हैं.

इस गांव के बच्चों को स्कूल जाने के लिए नदी को पार करके जाना होता है. ऐसे में इनकी मदद करता है, दो पेड़ों के सहारे बंधा हुआ केबल तार. इस तार पर कुछ लोग लकड़ी का बॉक्स बांध कर नदी पार करते हैं, तो कुछ अपनी कमर पर रस्सी बांध कर इसकी मदद से नदी के पार जाते हैं.

Source: nepalmountainnews

साल 2010 में बारिश के मौसम में इस केबल में करंट आ जाने की वजह से पांच लोग मौत का शिकार बन गये थे. उस समय सरकार की तरफ़ से आश्वासन आया था कि यहां पर एक सस्पेंशन ब्रिज़ का निर्माण किया जाएगा. फ़िलहाल अभी तक यहां कोई पुल नज़र नहीं आता है. आज भी हालात जस के तस ही हैं.

इतना ही नहीं, नदी पार करने के बाद इन बच्चों को सड़क पर पहुंच कर आते-जाते वाहनों से लिफ्ट मांगनी पड़ती है. अगर कोई गाड़ी वाला बच्चों को लिफ्ट नहीं देता है, तो बच्चे वापिस लौट कर घर चले जाते हैं.

Source: telegraph

Loading...

Comments

comments