Home Azab Gazab ये है दुनिया का सबसे खतरनाक ब्रिज Most Dangerous Bridges In The...

ये है दुनिया का सबसे खतरनाक ब्रिज Most Dangerous Bridges In The World

SHARE

दुनिया में ऐसे कई ब्रिज और पुल बनाए गए हैं, जो बेहद ही खतरनाक हैं. भारत भी इस मामले में पीछे नहीं है. लेकिन इन पर यात्रा के दौरान लोग जान हथेली पर लेकर ही चलते हैं. ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे ही ब्रिज के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे देखकर किसी को भी डर लग जाए. ब्रिज है या चट्टानों के बीच झूलती पगडंडियां…

जान हथेली पर लेकर लोग करते हैं सफर

चीन ने दुनिया का सबसे बड़ा फ्लोटिंग ब्रिज बनाया है. लेकिन पेरू का इन्का रोप ब्रिज या केशवा चाका ब्रिज की गिनती दुनिया के सबसे खतरनाक ब्रिज में होती है. कुजको वैली में स्थित इस पुल को क्यूचुआन समुदाय के लोगों ने हाथ से बुनकर बनाया. दरअसल, यह जंगली घास से बनाई गई रस्सियों से तैयार किया गया पुल है. इसकी लंबाई 118 फीट है और 220 फीट की ऊंचाई है. यह कैनयोन की तेज बहती हुई नदी पर बना हुआ है. माना जाता है कि इस तरह का पुल यहां के लोगों ने 500 साल पहले बनाए थे. हर साल इसकी रिपेयरिंग की जाती थी. इंका समुदाय के लोगों ने अपने पूर्वजों के इस पुल को 2003 में फिर से नया और मजबूत स्वरूप दिया था.

इया वैली के विन ब्रिज

जापान की तीन छुपी हुई घाटियों में से एक इया वैली पर पुराने समय में बनाए गए रस्सी के तीन पुल हैं. यहां के इन पुलों में से हसबैंड ब्रिज और वाइफ ब्रिज सबसे अधिक प्रसिद्ध हैं. अगर आपको ऊंचाई से डर लगता है तो इनसे न गुजरें. खासकर बारिश में तो पुल के नीचे तेजी से बहता पानी को देखकर डर के कारण लोगों के पसीने निकलने लगते हैं. वैसे इन पुलों से गुजरने के लिए 500 येन का टैक्स भी देना पड़ता है. बताया जाता है कि इस पुल का निर्माण 11 वीं सदी में कराया गया था.

कोटमेल फुटब्रिज

श्रीलंका के कोटमेल ओया नदी पर यह पुल बना हुआ है. लटकता हुआ पुल आपको देखने में भले ही खूबसूरत लग रहा हो, लेकिन लंबे समय से अभी तक इसे रिपेयर नहीं किया गया है.

 

हुसैनी हैंगिग ब्रिज

पाकिस्तान का यह पुल कभी दुनिया के सबसे खतरनाक रोप ब्रिज में से एक था, लेकिन 2011 में भारी बारिश में यह नष्ट हो गया. बता दें कि पाकिस्तान के उत्तरी इलाके गिलगिट और बलूचिस्तान 1978 तक देश से कटे हुए थे. यह एक पहाड़ी इलाका है और यहां सड़कें नहीं थीं. यहां के लोग रावलपिंडी तक पैदल ही पहुंचा करते थे. तब इस इलाके में बोरित झील को पार करने के लिए अपर हुंजा में हुसैनी हैंगिग ब्रिज बनाया गया था.

Facebook Comments