global hunger index

ग्लोबल हंगर इंडेक्स क्या होता है? – Global Hunger Index India 2019

Explainer

जीएचआई यानी की ग्लोबल हंगर इंडेक्स एक ऐसा टूल है जिसके जरिये जरिये पूरी दुनिया या देश या क्षेत्र के आधार पर भूखमरी का आंकलन किया जाता है. द इंटरनेशनल फूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट हर साल ग्लोबल हंगर इंडेक्स की गणना करता है. इसमें वो पिछली बार के मुकाबले प्रगति का तुल्नात्मक अध्ययन करता है. . जीएचआई इंडेक्स की रैंकिंग आयरलैंड की ऐड एजेंसी कंसर्न वर्ल्डवाइड और जर्मन ऑर्गेनाइज़ेशन वेल्ट हंगर तैयार करते हैं.

ग्लोबल हंगर इंडेक्स चार संकेतकों के आधार पर मापा जाता है.

अल्प पोषण

पांच साल से कम आयु के वो बच्चे जिनका वजन, उनकी उम्र और ऊंचाई के हिसाब से कम है

पांच साल से कम आयु के वो बच्चे जिनकी ऊंचाई, उनके वजन या उम्र के हिसाब से कम है

बाल मृत्यु दर, खास तौर पर पांच साल  से कम उम्र के बच्चों के लिए

ग्लोबर हंगर इंडेक्स २०१९ में भारत कहां है

ग्लोबल हंगर इंडेक्स २०१९ में 117 देशों की सूची में भारत 102वें नंबर पर आ गया है. ग्लोबल हंगर इंडेक्स में नीचे होने का मतलब है कि भारत में लोग भर पेट खाना नहीं खा पा रहे हैं, बाल मृत्यु दर ज़्यादा है, बच्चों का लंबाई के अनुसार वजन नहीं है और बच्चे कुपोषित हैं.

भारत एशिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था है और दक्षिण एशिया की सबसे बड़ी लेकिन ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत दक्षिण एशिया में भी सबसे नीचे है. इसका मतलब ये है कि पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल के लोग भारतीयों से पोषण के मामले में आगे हैं. भारत इस मामले में ब्रिक्स देशों में भी सबसे नीचे है. पाकिस्तान 94वें नंबर पर है, बांग्लादेश 88वें, नेपाल 73वें और श्रीलंका 66वें नंबर पर है.

भारत 2010 में 95वें नंबर पर था और 2019 में 102वें पर आ गया. 113 देशों में साल 2000 में जीएचआई रैंकिंग में भारत का रैंक 83वां था और 117 देशों में भारत 2019 में 102वें पर आ गया.

GHI रैंक किन देशों की अच्छी है

बेलारूस, यूक्रेन, तुर्की, क्यूबा और कुवैत जीएचआई रैंक में अव्वल हैं. यहां तक कि रवांडा और इथियोपिया जैसे देशों के जीएचआई रैंकों में सुधार हुए हैं

GHI रैंक किन देशों की खराब है

ग्लोबल हंगर इंडेक्स में सबसे खराब हालत सेंट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक की है. सेंट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक विकासशील देशों में सबसे भूखा है और इस इंडेक्स में सबसे आखिरी पायदान यानी की ११७वें नंबर पर है. गृहयुद्ध से परेशान इस अफ्रीकी देश का क्षेत्रफल 6,22,984 वर्ग किलोमीटर और जनसंख्या करीब 46 लाख है.

इंडेक्स में नीचे से दूसरे नंबर यानी की ११६वें नंबर पर यमन है. सऊदी अरब से युद्ध लड़ रहे इस देश में हालात बेहद खराब हैं. इस देश की आबादी करीब पौने तीन करोड़ और क्षेत्रफल 5,27,968 वर्ग किलोमीटर है.

ग्लोबल हंगर इंडेक्स में तीसरे नंबर पर चाड है. इस उत्तर अफ्रीकी देश चाड का ग्लोबल हंगर इंडेक्स में ११५वां नंबर है. इसका क्षेत्रफल 12,84,000 वर्ग किलोमीटर और आबादी करीब डेढ़ करोड़ है. इस लिस्ट में चाड से ठीक ऊपर मेडागास्कर और जाम्बिया है.