सबसे ज्यादा मंदिरों वाला राज्य तमिलनाडु की 5 खास बातें

तमिलनाडु के 235 विधानसभा सीटों पर 6 अप्रैल को चुनाव होगा और परिणाम 2 मई को आएगा. तमिलनाडु का चुनाव इस बार दिलचस्प माना जा रहा है क्योंकि राज्य की राजनीति दो पार्टियों के इर्दगिर्द घुमती रहती है, पहली जयललिता की AIADMK, दूसरी करुणानिधि की पार्टी DMK. आज हम आपको दक्षिण भारत का राज्य तमिलनाडु के बारे में कुछ खास बातें बताने जा रहे हैं.

  1. राज्य की तमिल संस्कृति दुनिया की प्राचीनतम संस्कृतियों में से एक है. पांड्य, पल्लव और चोल साम्राज्य के राजाओं ने यहीं से विभिन्न देशों पर राज किया था. वहीं तमिल भाषा की बात की जाए तो यह भाषा तकरीबन 5000 साल पुरानी है. इसे दुनिया की सबसे पुरानी भाषा माना जाता है. प्राप्त शिलालेखों से ज्ञात होता है कि तमिल भाषा तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व की भाषा रही होगीकरीब 6 करोड़ 80 लाख लोग तमिल बोलते हैं. वहीं 90 लाख लोग इसे दूसरी भाषा के तौर पर बोलते हैं.

    Source- Travelure

  2. राज्य में आज भी प्राचीन समय के वैभवशाली मंदिर देखने को मिल जाते हैं. राज्य में करीब 33 हजार मंदिर हैं जिसमें से कई मंदिरों का इतिहास 1400 सालों से भी ज्यादा पुराना है. उदाहरण के तौर पर मदुरै स्थित मीनाक्षी मंदिर, रामेश्वरम स्थित रामनाथस्वामी मंदिर और चैन्नई स्थित कपीलश्वर मंदिर है.
  3. तमिलनाडु में चावल के कई तरह के व्यंजन बनते हैं. राज्य का प्रमुख व्यंजन डोसा, इडली, उत्तपम, कोथू पटोरा, सांभर, रसम सांबर, इडली पकौड़ा और बज्जी है. दिलचस्प बात यह है कि यहां खाना स्टील के बर्तनों के बजाय केले के पत्तो पर परोसा जाता है. यहां तक की तमिलनाडु के रेस्टोरेंट में भी यहीं चलन है.

    Source- Watscooking

  4. राज्य में कई लोकनृत्य हैं, जैसेकुम्मी, करगट्टम, अय्यट्टम, देवरत्तम,कावड़ी अट्टम आदिइसके अलावा देवताओं को प्रसन्न करने के लिए पोइक्कल कुदिराई अट्टम नृत्य होता है. जिसमें नृत्य करने वाले के शरीर पर घोड़े की आकृति बंधी होती है.
  5. दश की दूसरी सबसे ज्यादा जीडीपी वाला राज्य तमिलनाडु है. वहीं पहले नंबर पर महाराष्ट्र है. ऑटो निर्यात के मामले में तमिलनाडु सबसे आगे है. चेन्नई को देश का ऑटोमोबाइल कैपिंटल भी कहा जाता हैसाल 2018-19 में राज्य का ग्रॉस स्टेट डोमेस्टिक प्रोडक्ट करीब 229.7 अरब डॉलर का था