मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह की पत्नी 5 कंपनियों की हैं डायरेक्टर, इसके अलावा 4 अन्य IPS की पत्नियां भी डायरेक्टर के पद पर

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख और मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह मामले में एक नया मोड़ सामने आया है. खबरों के मुताबिक परमबीर सिंह की पत्नी सविता सिंह 5 बड़ी कंपनियों की सर्वेसर्वा हैं. लेकिन साल 2020 में TRP स्कैम मामले में परमबीर सिंह की कार्यवाही के बाद LIC हाउसिंग ने जबरदस्ती बोर्ड से इस्तीफा दिलवा दिया था.

परमबीर सिंह की पत्नी सविता सिंह इंडिया बुल्स ग्रुप की 2 कंपनियों की डायरेक्टर हैं. इसके अलावा एडवोकेट फर्म खेतान एंड कंपनी में पार्टनर भी हैं. सविता सिंह ट्रस्ट डीड, रिलीज डीड और गिफ्ट डीड पर लोगों को सलाह भी देती हैं. वे खेतान एंड कंपनी से सालाना 2 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई करती हैं.

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से पोस्ट ग्रेजुएशन

सविता सिंह ने हरियाणा स्थिति कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से अंग्रेजी साहित्य में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है. इसके बाद उन्होंने मुबंई से लॉ में ग्रेजुएशन किया हैं. 17 मार्च साल 2017 में यश ट्रस्टी और 28 मार्च साल 2018 में इंडिया बुल्स प्रॉपर्टी की डायरेक्टर बनीं. इंडिया बुल्स असेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी में भी डायरेक्टर हैं. इसके अलावा सोरिल इंफ्रा में भी डारेक्टर के पद पर रह चुकी हैं. यह कंपनी इंडिया बुल्स की ही कंपनी है.

बीजेपी नेता के साथ है पारिवारिक संबंध

परमबीर सिंह के बेटे रोहन की शादी बीजेपी के कद्दावर नेता दत्ता मेघे की पोती राधिका से हुआ है. दत्ता मेघे विदर्भ के अलगाव आंदोलन के बड़े नेता थे. राधिका के पिता सागर मेघे नागपुर में बिजनेसमैन हैं. वे लोकसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा. राधिका के चाचा समीर मेघे विधायक हैं.

Source- Times Now

4 IPS की पत्नियां डारेक्टर

श्रेयस मैनेजमेंट कंपनी में चार आईपीएस अफसरों की पत्नियां डायरेक्टर हैं. मेघा पत्नी IPS विवेक फणसलकर, सविता पत्नी IPS परमबीर सिंह, सुरुचि IPS देवेन भारती और मनीषा IPS सदानंद दाते हैं.

IPS देवेन भारती की हो सकती है जांच

मुंबई में आम आदमी पार्टी ने देवेन भारती के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहा है कि भारती गलत लोगों का साथ दे रहे हैं. आपको बता दे कि  देवेन भारती पिछले चार साल से मुंबई पुलिस में संयुक्त कमिश्नर के पद पर कार्यरत थेवे इस पद पर सबसे ज्यादा दिनों तक रहने वाले अधिकारी हैं. जबकि कोई भी अधिकारी इस पद पर 2 सालों से ज्यादा समय तक नहीं रह सकता है. बाद में उनका तबादला करके ATS भेज दिया गया. जब राज्य में महाविकास आघाडी सरकार सत्ता में आई तब भारती का ATS से ट्रांसफर करके महाराष्ट्र स्टेट सिक्योरिटी में भेज दिया गया.

Source- DNA India

बीजेपी सरकार में टॉप पर रहने वाले IPS आज केंद्र सरकार का काम संभाल रहे हैं

परमबीर सिंह के मामले को लेकर इस वक्त BJP और NCP आमनेसामने है. बीजेपी को घेरने के लिए राज्य सरकार IPS देवेन भारती की जांच करा सकती है. आपको बता दे कि राज्य के बीजेपी सरकार में जो IPS टॉप पर थे, आज उनमें से ज्यादात्तर अधिकारी केंद्र सरकार के कामकाज को देख रहे हैं. इनमें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और दत्ता पडसलगीकर भी शामिल हैं. साल 2016 में बीजेपी सरकार में दत्ता मुंबई के कमिश्नर बने थे बाद में उन्हें DGP बनाया गया. साल 2019 में NAS चले गए. इससे पहले दत्ता इंटेलिजेंस ब्यूरो में भी रह चुके हैं. इसके बाद तीन अन्य IPS अधिकारी भी केंद्र में चले गए.