Asteroid Apophis : क्या 2068 में धरती से टकराएगा एपोफिस

यूएसए की अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कुख्यात क्षुद्रग्रह एपोफिस की पृथ्वी से टकराने की संभावनाओं को खारिज कर दिया है. वैज्ञानिकों का कहना है कि शुद्रग्रह एपोफिस से पृथ्वी को अगले 100 सालों तक कोई नुकसान नहीं होगा.

प्राचीन मिस्र में अराजकता और अंधेरे के देवता के नाम पर इस शुद्रग्रह का नाम रखा गया है. साल 2004 में इसे खोजा गया था. जिसके बाद नासा का मानना था कि यह उन क्षुदग्रहों में से एक है जिससे पृथ्वी को खतरा है.

नासा ने अनुमान लगाया था कि एपोफिस साल 2029 और साल 2036 में पृथ्वी से टकरा सकती है लेकिन बाद में इसे खारिज कर दिया गया. लेकिन साल 2068 में संभावित टक्कर के बारे में अभी आशंकाएं थी.

नासा के वैज्ञानिक रडार ऑब्जरवेशन कैंपेन के तहत मूल आंकड़ों से यह बात कही है. इस साल 5 मार्च को जब क्षुदग्रह पृथ्वी के पास से गुजरा तो वैज्ञानिकों ने सूर्य के चारों ओर क्षुद्रग्रह की कक्षा के बारे में विस्तार से जानने के लिए रडार ऑब्जरवेशन का प्रयोग किया.

Source- Archyde

खगोलविदों ने एपोफिस की गति को ट्रैक करने के लिए बारस्टो कैलिफोर्निया के पास डीप स्पेस नेटवर्क के गोल्डस्टोन कॉम्प्लेक्स में 70 मीटर रेडियो एंटीना का उपयोग किया था. वहीं वेस्ट वर्जीनिया में ग्रीन बैंक टेलीस्कोप ने 10.6 मिलियन मील की दूरी से एपोफिस की इमेंज दिखाई.

26 मार्च को नासा के सेंटर फॉर नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडी़ज (CNEOS) ने एक बयान में कहा कि साल 2068 में शुद्रग्रह का प्रभाव संभावनाओं के दायरें में नहीं है और हमारी गणना के मुताबिक अगले 100 सालों इससे पृथ्वी को कोई खतरा नहीं है.

शुद्रग्रह क्या है-

शुद्रग्रह चट्टानों से मिलकर बने होते हैं जो सूर्य की परिक्रमा करते हैं. यह ग्रहों की तुलना में काफी छोटे होते हैं. इन्हें लघु ग्रह भी कहा जाता है नासा के अनुसार अंतरिक्ष में 994,383 क्षुद्रग्रह हैं.

क्षुद्रग्रह तीन वर्गो में विभाजित हैं पहला, मंगल और बृहस्पति के बीच मुख्य क्षुद्रग्रह बेल्ट पाए जाते हैं जिसमें करीब 1.1 से 1.9 मिलियन तक क्षुद्रग्रह होने के अनुमान है.

दूसरा समूह ट्रोजन क्षुद्रग्रह का है जो एक बड़े ग्रह के साथ एक कक्षा साक्षा करतें हैं. नासा ने साल 2011 में पृथ्वी ट्रोजन होने की सूचना दी थी.

तीसरा समूह नियर- अर्थ क्षुद्रग्रह का है जिसकी कक्षाएँ पृथ्वी के पास से गुजरती हैं. तीसरे समूह में 10,000 से ज्यादा शुद्रग्रह हैं जिसमें से 1400 से अधिक शुद्रग्रहों को खतरनाक माना गया है.