COVID 19 Vaccine : सभी को फ्री मिलेगी कोरोना वैक्सीन, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने किया एलान

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने घोषणा की है कि कोरोना वैक्सीन पूरे देश में मुफ्त में लगाई जाएगी. आज पत्रकारों ने जब केंद्रीय मंत्री से पूछा कि वैक्सीन के लिए क्या लोगों को पैसे देने पड़ेंगे तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि पूरे देश में कोरोना की वैक्सीन फ्री मिलेगी. सबसे पहले 50वर्ष अधिक उम्र के लोगों को पहले वैक्सीन दी जाएगी. इसके बाद पहले से बीमारियों से ग्रस्त लोगों को वैक्सीन दी जाएगी.

कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर पूरे भारत में ड्राई रन की तैयारी पूरी हो चुकी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने खुद दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में जाकर ड्राई रन का जायजा लिया. उन्होंने  कहा कि देश को टीकाकरण करने का अनुभव है और ये वैक्सीन जनता की सुरक्षा के लिए है, इसे लेकर कोई गलतफहमी न रखें.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 116 जिलों के 259 जगहों पर ड्राई रन किया जा रहा है. 20 दिसंबर 2020 को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार ही सभी राज्यों में ड्राई रन होगा. इसका उद्देश्य है कि वैक्सीन के अभियान में आने वाले चुनौतियों को पहचान कर उसे सही ढंग से क्रियान्वयन किया जा सके. इसके साथ ही कोविन एप का परीक्षण किया जाएगा कि ये एप वैक्सीन के लिए कितना कारगर है.

source-arab news

CoWin App क्या है ?

कोविन एप एक रजिस्ट्रेशन प्लेटफ़ॉम है. यह एप और वेबसाइ़ट दोनों रूप में है. जो लोग इस ड्राई रन में शामिल होंगे उन लोगों को कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा. रजिस्ट्रेशन कराने के लिए फोटो और पहचान पत्र अनिवार्य है. कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन कराने वाले लोगों को ड्राई रन के लिए कब और कहां शामिल होना है इसकी भी जानकारी दी जा रही है. वैक्सिनेशन के बाद सर्टिफिकेट भी इसी एप के जरिए दिया जाएगा.

source-rediff.com

इससे पहले देश के चार राज्यों के सात जिलों, आंध्र प्रदेश में कृष्णा जिला, गुजरात में राजकोट और गांधी नगर, पंजाब में लुधियाना और शहीद भगत सिंह नगर और असम के सोनित और नलबाड़ी में ड्राई रन का सफल परीक्षण किया जा चुका है.

राजधानी दिल्ली में ड्राई रन के लिए तीन स्थानों का चयन हुआ है, पहला शहादरा स्थित गुरु तेग बहादुर अस्पताल दूसरा दरियागंज स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और तीसरा द्वारका का वेंकटेश्वर अस्पताल है.

वैक्सिनेशन के लिए 96,000 कर्मियों को परीक्षण दिया गया है. राष्ट्रीय स्तर पर 2360 कर्मियों को राष्ट्रीय प्रशिक्षक प्रशिक्षण द्वारा प्रशिक्षित किया गया है. वहीं जिला स्तर पर 719 जिलों में 57,000 से अधिक लोगों को प्रशिक्षित किया गया है. इसके अलावा वैक्सिनेशन या एप संबंधी समस्याओं को लेकर राज्य हेल्पलाइन नंबर 1075 के अतिरिक्त 104 जारी किया गया है.

ड्राई रन क्या है ?

डाई रन एक पूर्वाभ्यास है जिससे असल वैक्सीन देते समय आने वाली दिक्कतों को समझकर उन्हें दूर किया जा सके. यह एक रिहर्सल की तरह है. ड्राई रन में असल वैक्सीन नहीं दी जाएगी. वैक्सीन को छोडकर सारी प्रक्रियाएं वास्तविक होंगी.