बर्ड फ्लू के बढ़ते मामले के बीच, चिकन और अंडा खाना कितना सुरक्षित है?

देश के पांच राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और केरल में बर्ड फ्लू से पक्षियों की मौतों की संख्या सबसे अधिक है. इनमें से हरियाणा राज्य में मुर्गियों में बर्ड फ्लू होने की पुष्टि हुई है. राज्य सरकार ने संक्रमित मुर्गियों को मारने का आदेश दिया है. सरकार के अनुसार देश में बर्ड फ्लू सर्दियों में आए प्रवासी पक्षियों की वजह से हो रहा है. हालांकि अभी तक बर्ड फ्लू का संक्रमण इंसानों में फैलने का कोई मामला सामने नहीं आया है.

source-the indian express

जब केंद्रीय पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह से पूछा गया कि क्या इस वक्त चिकन और अंडा खाना सेफ है तो इस पर गिरिराज सिंह ने कहा कि डरने की जरुरत नहीं है. चिकन और अंडे को अच्छे से उबाल कर खा सकते हैं. गिरिराज सिंह ने आगे कहा कि विश्व पशु संगठन के अनुसार अच्छे से पके पॉलट्री मीट और अंडा खाने से कोई दिक्कत नहीं है.

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के अनुसार बर्ड फ्लू को लेकर अक्टूबर महीने में ही सभी राज्यों को एडवाइजरी करके बता दिया गया था. भारत सरकार के पास इंसानों में संक्रमण आने की कोई रिपोर्ट नही है. बर्ड फ्लू के मामले कुछ राज्यों में ही सामने आए हैं  इनमें सबसे ज्यादा प्रभावित केरल है जहां सबसे ज्यादा संक्रमण बत्तखों को हुआ है.

आपको बता दें कि देश के पांच राज्यों में बर्ड फ्लू के कारण पछियों की मौतें हो रही हैं. बर्ड फ्लू को एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस यानी H5N1 के नाम से भी जाना जाता है. बर्ड फ्लू का पहला मामला साल 1997 में हांगकांग में आया था. बर्ड फ्लू का संक्रमण ज्यादातर मुर्गे, बत्तख, कौवे जैसे पछियों में होता है. संक्रमित पछियों के संपर्क में आने से सामान्यतः इंसान भी इस वायरस से संक्रमित हो जाता है. इंसानों के भीतर यह नाक, कान और मुंह  के जरिए फैलता है.