Budget 2021 : स्वास्थ्य बजट में 137% की वृद्धि, वैक्सीन के लिए 35000 करोड़ रुपये की मंजूरी

1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट जारी किया. इस बार के बजट में स्वास्थ्य और सेहत के क्षेत्र में 137 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 2.23 लाख करोड़ रुपये आवंटित हुआ है. वित्तमंत्री ने कोरोना वैक्सीन, शहरों की सफाई, वेस्ट मैनेजमेंट, पानी की सप्लाई. वायु प्रदूषण और पोषण के लिए अलग-अलग धन आवंटित किया.

source-The Indian Express
  • आने वाले 6 साल में आत्मनिर्भर स्वास्थ्य भारत योजना के लिए 64,180 करोड़ रुपये का ऐलान.
  • कोरोना की वैक्सीन के लिए 35,000 करोड़ का ऐलान.
  • हेल्थ केयर के लिए 2.23 लाख करोड़ रुपये.
  • देश में 4 नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी केंद्र बनाए जाएंगे. इसके अलावा देश में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वर्ल्ड हेल्थ केयर बनेगा.
  • जलजीवन के तहत 2.87 लाख करोड़ रुपये.
  • वायु प्रदूषण से निपटने के लिए 64,180 करोड़ रुपये.
  • अमृत योजना के लिए 2 लाख 87 हजार रुपये का ऐलान.
  • 15 हेल्थ इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर्स की शुरूआत.

    source-the quint

वित्त मंत्री ने कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 का बजट आत्मनिर्भर भारत के 6 स्तंभों पर आधारित है. इस स्तंभों में पहला स्तंभ स्वास्थ्य और सेहत है.

वित्त मंत्री ने स्वास्थ्य बजट पर कहा कि साल 2021-22 के लिए कोविड-19 वैक्सीन के लिए 35 हजार करोड़ रुपये आवंटित किया गया है अगर और फंड की जरूरत हुई तो वो भी मुहैया कराई जाएगी.

आत्मनिर्भर स्वास्थ्य योजना-

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वास्थ्य भारत योजना तैयार की है. जिसकी मदद से स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूती प्रदान. इसके तहत 6 साल में 64,180 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. इस योजना के तहत 11 राज्यों में 3382 ब्लॉक में सार्वजनिक स्वास्थ्य लैब स्थापित किए जाएंगे.

स्वच्छ भारत मिशन-

स्वच्छता के लिए करीब 2 लाख 80 हजार करोड़ रुपये आवंटित हुआ है. वहीं शहरी स्वच्छ भारत मिशन के दूसरे चरण के लिए अगले 5 सालों में 1 लाख 41 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे. इसके अलावा साफ हवा के लिए 2 हजार करोड़ रुपये खर्च किया जाएगा.