पतंजलि आयुर्वेद ने लॉन्च की कोरोना की नई दवा, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और नितिन गडकरी रहे मौजूद

बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने कोरोना की एक नई दवा कोरोनिल टैबलेट लॉन्च की है. बाबा रामदेव का कहना है कि ये दवा WHO से प्रमाणित है. इस नई दवा की मदद से दुनिया के 158 देशों को कोरोना से निजाद मिलेगी. बाबा रामदेव ने मीडिया को बताया कि कोरोनिल टैबलेट दवा बनाने का उद्देश्य कारोबार करना नहीं है बल्कि लोगों के सेहत का ख्याल रखना है.

Source- DNA India

गौरतलब है कि इससे पहले पतंजलि ने कोविड-19 से निपटने के लिए कोरोनिल नाम की दवा लॉन्च की थी. जिसके बाद काफी विवाद हुआ था, अपने बचाव में पतंजलि ने कहा था कि ये दवा कोरोना को खत्म करने का दावा नहीं करती बल्कि ये इम्युनिटी बूस्टर है.

दवा की लॉन्चिंग के मौके पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी मौजूद थे. इस मौके पर एक रिसर्च पेपर जारी किया गया. रिसर्च पेपर का विमोचन करते हुए डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि पंतजलि और केंद्र सरकार का एक ही लक्ष्य है कि नई तकनीक के जरिए आयुर्वेद की स्थापना की जा सके.

Source- The Economic TImes

डॉ. हर्षवर्धन ने आगे कहा कि कोरोना काल में आयुर्वेद की मांग 50 प्रतिशत वृद्धि आई है. जो कोरोना से पहले केवल 15 से 20 प्रतिशत के करीब था. कोरोना काल में अगर आयुर्वेदिक दवाओं को पहचान मिल रही है तो इससे अच्छा क्या हो सकता है. इससे आयुर्वेदिक दवाओं का निर्यात बढ़ेगा.

पतंजलि द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक इस दवा को 100 से ज्यादा डॉक्टरों ने मिलकर बनाया है. कोरोनिल टैबलेट इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत बनाने के अलावा कोरोना को भी खत्म करेगा. इस नई दवा में, कोरोनिल, श्वासारी, पीड़ानिल, आर्थोग्रिट, मधुनाशिनी व मधुग्रिट, मुक्तावटी, थायरोग्रिट, प्रोस्टोग्रिट, इम्यूनोग्रिट और सिस्टोग्रिट आदि प्रमुख रूप से है.