पेगासस विवाद: कांग्रेस का काम सिर्फ हंगामा खड़ा करना है, सरकार किसी का फोन क्यों टेप करेगी- सीएम खट्टर

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बुधवार को पेगासस फोन टैपिग विवाद को लेकर कांग्रेस और द वायर पर मानसूत्र सत्र की कार्यवाही में बाधा डालने के आरोप लगाया.

सीएम खट्टर ने प्रेस कॉन्फ्रेस में कहा कि मानसून सत्र में महिलाओं, युवाओं और पिछड़े वर्गों के लिए विभिन्न योजनाओं पर महत्वपूर्ण निर्णय लिया जाना था, लेकिन कांग्रेस और उसके साथ जुड़ी कुछ बाहरी ताकतें सदन की कार्यवाही होने नहीं दे रहें हैं. कांग्रेस का समय निर्धारित होता है कि कब हंगामा खड़ा करना है और कब नहीं. जब वे देखते हैं कि उनके पास बहस करने के लिए कुछ नहीं है तब वे विदेशी ताकतों के समर्थन से हंगामा खड़ा करते हैं.

न्यूज वेबसाइट द वायर को वामपंथी करार देते हुए सीएम ने कहा, पेगासस की साजिश 18 जुलाई को संसद सत्र शुरू होने से ठीक एक दिन पहले द वायर ने इसे प्रकाशित किया, जो एक वामंपथी है.

Source- Google

17 मीडिया संगठनों ने संयुक्त रूप से पेगासस के बारे छापाने वाले सवाल पर सीएम खट्टर ने कहा कि द वायर उनमें से एक है. वो वामपंथी है. ये सभी मीडिया संगठन वे हैं जिनका किसी देश से कोई लगाव नहीं है. ये सभी अपनी-अपनी कार्यशैली के अनुसार काम करते हैं. वे ऐसे संगठन हैं जो न ही किसी राष्ट्र से प्रेम करते हैं और न ही देशभक्त हैं.

Source- The Indian express

उन्होंने आगे कहा कि कुछ दिनों पहले ही यूरोप की एमनेस्टी नाम की एक संगठन ने ऐसी कहानियों को अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित किया था. जिसे द वायर ने हवा दे दी है. सरकार किसी का फोन क्यों टेप करेगी. वामपंथी मीडिया में जो कुछ भी कह रहे हैं वो हंसी का पात्र है, उन्हे इसका परिणाम भुगतना होगा. इन कहानियों में कितनी सच्चाई होगी इस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि एमनेस्टी का अस्तित्व संदिग्ध है. जब भारत में एमनेस्टी से उसके फंड के बारें में पूछा गया तो उसने जवाब देने के बजाय भारत से अपना बैगपैक करके वापस चली गयी.

उन्होंने आगे कहा कि इसके लिए सीधे कांग्रेस दोषी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नहीं तो कम से कम देश की प्रतिष्ठा की तो चिंता करनी चाहिए. कांग्रेस को इस बारे में सावधान रहना चाहिए कि वे क्या कह रहे हैं. आज हमारा देश नरेंद्र मोदी और एनडीए की नीतियों के कारण विश्व स्तर पर पहुंचा है.