12 बार मि. पंजाब और 27 बड़े-छोटे रिकॉर्ड बना चुके ये जाबांज हैं 27 पैरालाइज्ड के शिकार !

‘मंजिल उन्ही को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है, पंखों से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती