Home News आरुषि हत्याकाण्ड में कैसे बरी हुए तलवार दंपति, जानिये एक-एक बात

आरुषि हत्याकाण्ड में कैसे बरी हुए तलवार दंपति, जानिये एक-एक बात

SHARE

देश के सबसे चर्चित हत्याकाण्डों में से एक आरुषि तलवार हत्याकाण्ड में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने हत्याकाण्ड के मुख्य अभियुक्त डॉक्टर राजेश तलवार और उनकी पत्नी नुपुर तलवार को दोषमुक्त कर दिया है. इससे पहले सीबीआई की विशेष अदालत ने तलवार दंपति को दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनवाई थी. आइये हम आपको बताते हैं कि क्या था आरुषि हत्याकाण्ड का पूरा मामला-

तलवार दंपति
Source-Hindustan Times

1. 16 मई साल 2008 को नोएडा के जलवायु विहार स्थित डॉक्टर राजेश तलवार की बेटी की हत्या हो गई. जांच के लिए जब पुलिस आई तो उन्हें एक दिन बाद उनके नौकर हेमराज का शव डॉक्चर तलवार के घर की छत पर एक कूलर में मिला.

2. हेमराज राजेश तलवार के घर में नौकर था और वो उन्हीं के घर में ही एक कमरे में रहता था.

3. आरुषि हत्याकाण्ड में पुलिस को शुरुआत में शक उनके अन्य 3 नौकरों और तलवार दंपति पर हुआ.

4. मात्र 14 साल की आरुषि की हत्या से पूरा समाज विचलित हो गया था और लोग सड़कों पर उतर आए थे. उत्तर प्रदेश की तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती ने इस हत्याकाण्ड की जांच सीबीआई को सौंप दी.

5. सीबीआई की पहली जांच में तलवार दंपति बच गए थे

6. 31 मई साल 2008 को सीबीआई ने अपनी रिपोर्ट में राजेश तलवार के तीनों नौकरों को दोषी बताते हुए राजेश दंपति को क्लीन चिट दे दी थी लेकिन फिर पुलिस ने इस रिपोर्ट को चुनौती देते हुए कहा कि राजेश तलवार ने ही अपनी बेटी आरुषि की हत्या की है.

7. सितंबर 2009 में एक बार फिर से दोबारा सीबीआई को जांच सौंपी तो सीबीआई ने तलवार दंपति के साथ-साथ उनके तीनों नौकरों कृष्णा थंडाराज, राजकुमार और विजय मंडल को भी जांच के दौरान गिरफ्तार किया.

8. सीबीआई ने जांच में पाया कि उनके तीनों नौकरों का इस हत्याकाण्ड में कोई भूमिका नहीं थी लेकिन उन्होंने तलवार दंपति को साजिश रचने के शक में रखते हुए आरोपी बनाया.

9. तलवार दंपति हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीमकोर्ट तक गए लेकिन कहीं भी उन्हें राहत नहीं मिली.

10. 11 जून 2012 को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में जस्टिस एस लाल के सामने मामले की सुनवाई शुरु हुई.

11. 26 नवंबर साल 2013 को जस्टिस एस लाल ने फैसला सुनाते हुए तलवार दंपति को दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई.

12. डॉक्टर राजेश तलवार और उनकी पत्नी नुपुर तलवार को गाजियाबाद की डासना जेल भेज दिया गया जहां वो अभी भी सजा काट रहे हैं.

13. तलवार दंपति ने सीबीआई की विशेष अदालत के इस फैसले को इलाहाबाद हाईकोर्ट में सजा दी थी.

14. इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस बीके नारायण और जस्टिस एके मिश्रा ने आरुषि हत्याकाण्ड के मामले की सुनवाई करते हुए अपना फैसला बीते 7 सितंबर को सुरक्षित रख लिया था.

15. इलाहाबाद हाइकोर्ट ने कहा कि मजबूत साक्ष्यों के अभाव में तलवार दंपति को दोषी करार देकर जेल में रखना ठीक नहीं है इसलिए उन्हें अदालत आरुषि हत्याकाण्ड के आरोप से मुक्त करती है.

 

 

इस फिल्म ने पहले ही दिखा दिया था ‘आरुषि हत्याकांड घटना’ के दोनों पहलुओं को

इन गलतियों से हो सकता है आपका Facebook अकाउंट हैक, जानिए कैसे बचें

 

Facebook Comments