Home Tech 360 अगर आपके पास भी है Oneplus स्मार्टफोन, तो हो जाइये सावधान

अगर आपके पास भी है Oneplus स्मार्टफोन, तो हो जाइये सावधान

SHARE

चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी वनप्लस पर अपने यूजर्स का निजी डेटा चुराने का आरोप लगा है.  इस बात का खुलासा एक सिक्योरिटी रिसर्चर क्रिस्टोफर मूर ने किया है. मूर एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं. मूर ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा है कि वनप्लस ने फोन का IMEI, फोन नंबर, MAC एड्रेस, मोबाइल नेटवर्क नेम, फोन का सीरियल नंबर और वायरलेस नेटवर्क का ESSID और BSSID कलेक्ट किया है.

 

डेटा चोरी करने का मामला

Oneplus
Image: Android Central

वनप्लस 2 के एक यूजर क्रिस डी मूर ने अपने फोन में एक सिक्योरिटी टूल डाल रखा था. यह टूल डिवाइस के डेटा को ट्रैक करता है. माडिया रिपोर्ट में बताया गया कि यूजर की डिवाइस इस टूल के जरिए open.oneplus.net पर ट्रैफिक रिक्वेस्ट जनरेट कर रही थी.

यह एक यूएस आधारित अमेजन एडब्ल्यूएस सर्वर रीडायरेक्ट किया जा रहा था. इसी के साथ ही यूजर ने बताया कि ये डिवाइस सिर्फ डेटा को ही नहीं ट्रैक कर रहा, बल्कि फोन के लॉक और अनलॉक होने को भी ट्रैक कर रहा था.

Oneplus कंपनी का क्या है कहना?

इस आरोप के बारे में कंपनी वनप्लस ने जो बयान दिया है, उससे तो यही लगता है कि Oneplus 3टी और 5 के साथ कंपनी की सभी डिवाइसेज़ में ट्रैकिंग की समस्या है. कंपनी ने इस बारे में कहा कि ‘हम अमेजन सर्वर पर HTTPS के जरिए दो अलग-अलग स्ट्रीम्स में एनालिटिक्स को सुरक्षित तौर पर संचारित कर रहे हैं.’

कंपनी ने आगे बताया कि इस पहली स्ट्रीम में एनालिटिक्स का यूज किया जाता है, जिससे ये पता चलता है कि सॉफ्टवेयर में क्या-क्या बदलाव किया जाना है. कंपनी ने कहा कि अगर यूजर चाहे तो इसे यूजर द्वारा ऑफ किया जा सकता है.

शाओमी पर भी लगे थे आरोप

इससे पहले चीन की ही एक कंपनी शाओमी पर भी यूजर का निजी डेटा चुराने का आरोप लग चुका है. शाओमी पर आरोप लगाया गया था कि वह अपने यूजर्स का निजी डेटा अपने सर्वर पर ले रहा है. इस बारे में कंपनी का बयान आया था कि वह यूजर्स की परमीशन के साथ ही उनका डेटा अपने सर्वर पर ले रही है और जल्द ही वह भारत में अपना सर्वर लगाएगी.

भारत सरकार ने भेजा था 21 कंपनियों को नोटिस

सरकार ने भी डेटा चोरी होने की जानकारी पर चिंगा जताई थी और इसी के चलते सरकार ने 21 मोबाइल निर्माता कंपनियों को नोटिस जारी किया था. सरकार ने जिन कंपनियों को नोटिस भेजा था, उनमें चीन की मोबाइल निर्माता कंपनी वीवो, ओप्पो, शाओमी और जियोनी के साथ ही 21 कंपनियां शामिल थीं.

सोनी मैक्स पर बार-बार सूर्यवंशम क्यों आती है ? | Sooryavansham

यह भी पढ़ें : सावधान ! Online पेमेंट करते हैं तो जरूर ध्यान रखें ये टिप्स

यह भी पढ़ें : मुँह के छालों को चुटकियों में सही करें, छोटी इलायची