Home Religion शरीर के किस अंग के फड़कने से होता है क्या, जानिए यहां

शरीर के किस अंग के फड़कने से होता है क्या, जानिए यहां

आपक के साथ अक्सर ये होता होगा कि आपका कोई अंग जैसे आंख, माथा या फिर होंठ फड़कते होंगे और ज्योतिष के अनुसार इनके मतलब भी होते हैं. लेकिन क्या आपको ये पता है कि किस अंग के फड़कने से क्या होता है. अगर नहीं पता तो परेशान होने की कोई बात नहीं हम आपको बता रहे हैं कि शरीर के अंग फड़कने का क्या मतलब होता है.

आंखों या भौंह का फड़कना

दाहिनी आंख या भौंह फड़कती है तो कोई ख़ास इच्छा पूरी होती है. बाईं आंख या भौंह फड़के तो समझो कोई शुभ समाचार मिलेगा.

होठों का फड़कना

ऊपर वाला होंठ फड़के तो समझो प्रिय भोजन मिलेगा. यदि नीचे वाला होंठ फड़के तो आपको प्रेमी से सुख मिलेगा. इसके अतिरिक्त यदि होठों का दाहिना कोना फड़कता है तो अचानक धनलाभ होने के योग बन सकते हैं. यदि बायां कोना फड़कता है तो कोई प्रिय वस्तु खो सकती है और यदि व्यक्ति के दोनों होंठ एक साथ फड़कते हैं तो भाग्य का साथ मिलता है व धन लाभ होता है.

मस्तक का फड़कना

मस्तक फड़कता है तो सुख सुविधाएं और सफलता मिलती है.

गालों का फड़कना

यदि दोनों गाल फड़कते हैं तो व्यक्ति को धन की प्राप्ति हो सकती है.

भौहों के बीच में फड़कन

यदि किसी व्यक्ति के दोनों भौंहों के बीच में फड़कन होती है तो सुख-सुविधाएं प्राप्त होने की संभावना होती है. ऐसा व्यक्ति निकट भविष्य में कोई बड़ी उपलब्धि हासिल कर सकता है.

गले का फड़कना

यदि किसी व्यक्ति का गला फड़कता है तो यह एक शुभ शगुन है. ऐसे लोगों के मान-सम्मान में वृद्धि होती है. समाज में प्रसिद्धि बढ़ती है. सुख-सुविधाएं प्राप्त होती हैं.

जांघ का फड़कना

बाएं ओर की जांघ फड़कती है तो व्यक्ति को अपमानित होना पड़ सकता है. दाहिनी जांघ फड़के तो धन लाभ होता है.

पैरों का फड़कना

यदि किसी व्यक्ति के दाहिने पैर का तलवा फड़के तो कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है. बाएं ओर का पैर फड़के तो यात्रा में जाने का योग बन सकता है. यदि दाहिने पैर की पिंडली फड़कती है तो अचानक पैसा मिल सकता है.