Home Religion एक मुस्लिम संत ने रखी थी गोल्डन टेम्पल की नींव, जानिए कुछ...

एक मुस्लिम संत ने रखी थी गोल्डन टेम्पल की नींव, जानिए कुछ ख़ास फैक्ट्स

SHARE
loading...

गोल्डन टेम्पल का नाम तो आपने सुना ही होगा, आपमें से बहुत से लोग वहां गये भी होंगे. लेकिन आपमें से बहुत कम लोग इससे जुड़े ये फैक्ट्स जानते होंगे.

1. गोल्डन टेम्पल के निर्माण के लिए जमीन मुस्लिम शासक अकबर ने दान की थी.

2. इस टेम्पल की नींव साईं मियां मीर नाम के एक मुस्लिम संत ने रखी थी. सूफी संत साईं मिया मीर का सिख धर्म के प्रति शुरू से ही झुकाव था. वे लाहौर के रहने वाले थे और सिखों के पांचवें गुरु अर्जन देव जी के दोस्त थे.

3. महाराजा रंजीत सिंह ने मंदिर निर्माण के लगभग 2 शताब्दी बाद यहां की दीवारों पर सोना चढ़वाया था.

4. प्रथम विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटिश सरकार ने जीत के लिए यहां पर अखंड पाठ करवाया था.

5. अहमद शाह अब्दाली के सेनापति जहां खान ने इस मंदिर पर हमला किया था, जिसके जवाब में सिख सेना ने उसकी पूरी सेना को खत्म कर दिया था.

6. इस मंदिर में सभी धर्म के लोग आते हैं. मंदिर में चार दरवाज़े चारों धर्म की एकता के रूप में बनाए गए थे.

7. यहां दुनिया का सबसे बड़ा लंगर लगाया जाता है. यहां लगभग 70000 लोग रोज़ खाना खाते हैं। अनुमान के मुताबिक़, रोज़ यहां दो लाख रोटियां बनती हैं.

8. कहा जाता है कि मुग़ल बादशाह अकबर ने भी गुरु के लंगर में आम लोगों के साथ बैठकर प्रसाद खाया था.

9. इस मंदिर में साधारण से लेकर अरबपति तक अपनी सेवा देते हैं. ये जूते पॉलिश से लेकर थाली तक साफ़ करते हैं.

10. माना जाता है कि सरोवर के बीच से निकलने वाला रास्ता ये दर्शाता है कि मौत के बाद भी एक यात्रा होती है.

11. स्वर्ण मंदिर पहले पत्थर और ईंटों से बना था. बाद में इसमें सफ़ेद मार्बल लगाया गया.

12. स्वर्ण मंदिर की सीढ़ियां ऊपर नहीं बल्कि नीचे की तरफ जाती हैं. जो इंसान को ऊपर से नीचे आना सिखाती है.