Home Facts भारतीय लोक संस्कृति की पहचान इन 10 वाद्य यंत्रों के बारे में...

भारतीय लोक संस्कृति की पहचान इन 10 वाद्य यंत्रों के बारे में जानिये

SHARE

कहा जाता है कि संगीत व्यक्ति को ईश्वर जोड़ने का एक माध्यम है. भारत की विविधता भरी संस्कृति में संगीत की अनेकों तरह की विधाएं आसानी से देखी जा सकती हैं. भारतीय कला और संस्कृति की पहचान वाले कुछ वाद्य यंत्रों के बारे में जानिये

1. पेपा

Source-D’source

असम राज्य की मशहूर संगीत विधा बिहु के वाद्य यंत्रों का एक अहम हिस्सा है पेपा. यह भैंस की सींग का बना होता है. इसे असम में पुरुष बिहु कलाकार बजाते हैं.

2. पखावज

Source-Meloteca

पखावज को अधिकतर जगहों पर मृदंग के नाम से जाना जाता है. ये देखने में ढोलक की तरह होता है लेकिन इसे बजाया तबले की तरह जाता है.

3. Padayani Thappu

Source-chithammusical.com

Padayani Thappu ड्रम की तरह का वाद्य यंत्र है. इसका किनारा लकड़ी का बना होता है और इसका एक किनारा चमड़े का बना हुआ होता है. इसे हाथ से बजाया जाता है.

4. अलगोजा

Source-Podar Haveli Museum

अलगोजो देखने में दो बांसुरियों की तरह ही होता है. इसे राजस्थानी और पंजाबी संगीत में अधिकतर प्रयोग किया जाता है. बलोच और सिंध के संगीतकार इसका अधिकाधिक प्रयोग करते हुए दिखते हैं.

5. सुरसिंगार

Source-Shri Madindia

सरोद की तरह दिखने वाला यह वाद्य यंत्र आकार में सरोद से बड़ा होता है. इसे लकड़ी, चमड़ा और धातु से बनाया जाता है. इसकी आवाज सरोद की तरह ही गहरी होती है.

6. गुबगुबा

Source-ripura.org.in

तबले की तरह दिखने वाला गुबगुबा वाद्य यंत्र तबले से बिल्कुल अलग होता है. इसका एक हिस्सा दो तार से बंधा होता है जो कि दूसरे छोर पर जुड़ते हैं. इसे एक हाथ से बगल में दबाकर बजाया जाता है.

7. Kuzhal

Source-The Score Magazine

Kuzhal नामक वाद्य यंत्रों का प्रयोग केरल में बहुत दिखता है. यह देखने में शहनाई की तरह ही होता है लेकिन इसकी ध्वनि शहनाई से बहुत अधिक तीखी होती है.

8. डुगडुगी

Source-LMS Music Supplies

भगवान शिव के डमरू के रूप में प्रसिद्ध यह वाद्य यंत्र तमिलनाडु में डुगडुगी के नाम से जाना जाता है.

9. संबल

वाद्य यंत्रों
Source-thebetterindia.com

इस वाद्य यंत्र का प्रयोग मुख्य रूप से पूर्वी भारत में होता है. इसमें दो ड्रम आपस में जुड़े हुए होते हैं लेकिन दोनों की ध्वनि में अंतर होता है. इसे स्टिक से बजाया जाता है.

10. रावण हत्था

वाद्य यंत्रों
Source-booksfact.com

वायलिन की तरह दिखने वाला रावण हत्था श्रीलंका में बहुत अधिक प्रचलित है. इसे भारत के कई हिस्सो में बनाया भी जाता है. इसे बजाने का तरीका बिल्कुल वायलिन की तरह ही होता है.