Home Tech 360 Interceptor Missile क्या होती है

Interceptor Missile क्या होती है

SHARE

Interceptor Missile सतह से हवा में मार करने वाला एक बैलिस्टिक रोधी मिसाइल है जो किसी भी देश से प्रक्षेपित मध्यम दूरी और अंतर महाद्वीपीय बेलिस्टिक मिसाइलों से मुकाबला करने के लिए बनाया गया है.

बैलिस्टिक मिसाइल रक्षाप्रणाली में दो Interceptor Missiles, वायुमंडल के बाहरी भाग के लिए पृथ्वी रक्षा वाहन और आंतरिक वातावरण या कम ऊंचाई के लिए उन्नत डिफेंस मिसाइल शामिल हैं.

कैसे काम करता है interceptor missile?

Interceptor missile
Image: Islamic Invention or Turkey

एक interceptor missile तीन तरीके से काम करता है. पहला ये हिट-टू-रन प्रणाली पर आधारित होता है, इसका मतलब ये है कि ये अपने आप ही अपनी ओर आ रहे मिसाइल की ओर उच्च गति से जाता है.

दूसरा ये कि ऐसे डिवाइस पर आधारित होता है, जिसमें निर्धारित लक्ष्य पर हमला करने के लिए आवश्यक विस्फोटक भरे होते हैं और तीसरा ये कि इस मिसाइल में ये दोनों तकनीकों को संयोजन किया गया हो.

उदाहरण के तौर पर एजिस बैलेस्टिक मिसाइल रक्षा प्रणाली पूरी तरह से हिट-टू-रन प्रणाली पर आधारित है. इजरायली मिसाइलों में विस्फोटक बम का इस्तेमाल किया जाता है, जबकि आधुनिक पैट्रियोट मिसाइलों में अधिक क्षति पहुंचाने के उद्देश्य से हिट-टू-रन प्रणाली के साथ-साथ छोटे विस्फोटक बम का भी इस्तेमाल किया जाता है.

कैसे उपयोगी है interceptor missile

Image: Indian Express

पृथ्वी वायु रक्षा मिसाइल और उन्नत वायु रक्षा (अश्विन) मिसाइल नामक दोनों इंटरसेप्टर मिसाइल का निर्माण अधिक ऊंचाई और निचले सतह पर दुश्मनों की बैलिस्टिक मिसाइलों को नष्ट करने के लिए किया गया है.

पृथ्वी वायु रक्षा मिसाइल बाहरी वायुमंडल में 50 से 80 किसी की ऊंचाई पर मिसाइलों को नष्ट कर सकती है. वहीं अश्विन मिसाइल आन्तरिक वायुमंडल में 30 किमी की ऊंचाई पर मिसाइलों को बेधने में सक्षम है. इसके अलावा इसका इस्तेमाल बैलिस्टिक मिसाइलों में उड़ान के समय ही परमाणु, रासायनिक, जैविक या पारंपरिक हथियारों की आपूर्ति को लिए भी किया जाता है.