Home Facts भारत के पहले परमवीर चक्र विजेता मेजर सोमनाथ शर्मा के बारे में...

भारत के पहले परमवीर चक्र विजेता मेजर सोमनाथ शर्मा के बारे में जानिये

SHARE

भारतीय सेना का सर्वोच्च पुरस्कार परमवीर चक्र भारतीय सेना में कार्यरत उन सैनिकों को दिया जाता है जिन्होंने मुश्किल हालातों में भी अपने हौंसलों की दम पर देश का सिर गर्व से ऊंचा किया हो. भारत में पहला परमवीर चक्र मेजर सोमनाथ शर्मा को दिया गया था. यह एक मरणोपरांत पुरस्कार था.

भारत के पहले परमवीर चक्र विजेता मेजर सोमनाथ शर्मा के बारे में जानिये कुछ बातें

Source-Kolkata24x7

1. मेजर सोमनाथ का जन्म 31 जनवरी साल 1923 को पंजाब प्रांत के कांगड़ा में हुआ था.

2. सोमनाथ शर्मा के पिता अमर नाथ शर्मा भी ब्रिटिश इंडियन आर्मी में अधिकारी थे.

3. 22 फरवरी साल 1942 को अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद सोमनाथ नाथ शर्मा का चयन ब्रिटिश इंडियन आर्मी की 19वीं हैदराबाद रेजीमेंट में 8वीं बटालियन में चयनित हुए.

4. सोमनाथ शर्मा बचपन से ही खेलकूद एवं एथलेटिक्स में अच्छा प्रदर्शन करते थे.

Source-The Better India

5. द्वितीय विश्व युद्ध की शुरुआत के साथ मेजर सोमनाथ शर्मा को मलाया के पास के युद्ध क्षेत्र में भेज दिया गया .

6. अपने पराक्रम, क्षमताओं के दम पर सोमनाथ शर्मा एक विशिष्ट सैनिक के रूप में पहचाने जाने लगे.

7. साल 1947 में मेजर सोमनाथ शर्मा के साथ उनकी पूरी टुकड़ी को कश्मीर घाटी में भेज दिया गया.

8. कश्मीर में दुश्मनों के साथ युद्ध करते समय सोमनाथ शर्मा के साथ उनके साथी घायल हो गये. गोलियां लगने के बाद भी सोमनाथ शर्मा अकेले ही दुश्मनों से लड़ते रहे और उन्होंने दुश्मनों को अपनी पोस्ट जीतने नहीं दी.

9. 3 नवंबर साल 1947 को एक मोर्टार मेजर सोमनाथ शर्मा के ठीक बगल में आकर गिरा जिसके बाद वो वहीं पर शहीद हो गये थे.

सोमनाथ शर्मा के
Source-BeAnInspirer.com

10. मेजर सोमनाथ शर्मा हमेशा अपनी जेब में गीता रखते थे. उनकी जेब में गीता और उनकी पसंदीदा पिस्तौल के कारण ही उनकी पहचान की जा सकी थी.

11. मेजर सोमनाथ को 21 जून साल 1950 को मरणोपरांत सेना के सर्वोच्च सम्मान परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया था.

12. मेजर सोमनाथ के पिता ने अपने बेटे की जगह परमवीर चक्र स्वीकार किया था.

यहां सेक्सी महिला पुलिस वालों का होता वर्जिनिटी टेस्ट