Home Entertainment ‘मेरा जूता है जापानी, ये पतलून इंग्लिशतानी’, राज कपूर के 15 लाजवाब...

‘मेरा जूता है जापानी, ये पतलून इंग्लिशतानी’, राज कपूर के 15 लाजवाब डायलॉग

SHARE

आजकल की फिल्मों में ऐसे डायलॉग बोले जाते हैं जिसके दो मतलब निकलते हैं, अब दर्शक के ऊपर है वे उन डायलॉग्स को किस नजरिये से लेते हैं. अगर डायलॉग की सही मायने में बात करें तो पुराने समय के सुपरस्टार्स राज कपूर, देव आनंद, दिलीप कुमार, राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन के डायलॉग्स को लोग आज भी याद करते हैं.

राज कूपर के बेहतरीन बोले गये डायलॉग :

राज कपूर
source : Indiatimes

राजकपूर को इंडस्ट्री का शो मैन कहा जाता है क्योंकि जब वे पर्दे पर आते थे तो लोग उनके डायलॉग्स को उनके साथ ही दोहराते थे. कुछ ऐसा जादू रहा है राज कपूर की फिल्मों और उनके बोले गए डायलॉग्स का..

1. आदमी में दिल होता है, दिल में आदमी नहीं (मेरा नाम जोकर)

2. दुनिया में एक चीज शेर-ए-बब्बर से भी ज्यादा खतरनाक और डरावनी है और वो है गरीबी और भूख (मेरा नाम जोकर)

3. प्यार में दुख तुमने मुझे नहीं दिया है, मैंने अपने आप को खुद दिया है (संगम)

राज कपूर
source :The Quint

4. कभी-कभी पुराने दिनों की याद, सेहत के लिए बहुत अच्छी होती है (मेरा नाम जोकर)

5. सब कुछ खुदा से मांग लिया तुझको मांगकर, उठते नहीं है हाथ मेरे इस दुआ के बाद (संगम)

6. हम उस देश के वासी है, जिस देश में गंगा बहती है (जिस देश में गंगा बेहती है)

राज कपूर
source : Filmy Keeday

7. दुश्मनी को खरीदने कही जाना नहीं पड़ता और दोस्ती किसी भी कीमत पे नहीं मिलती (कल आज और कल)

8. दिल का दर्द और आंखो के आंसू छुपाने के लिए ये बेवकूफ मसकारे का भेष बड़े काम की चीज है (श्री 420)

9. मेरा जूता है जापानी, ये पतलून इंग्लिशतानी सर पर लाल टोपी रूसी फिर भी दिल है हिंदूस्तानी (श्री 420)

राज कपूर
source : bollywoodpapa

10. रोशनी चांद से होती है सितारों से नहीं, दोस्ती एक से होती है हजारों से नहीं (गोपिचंद जासूस)

11. बस यही तो हमारे समाज का कमाल है…जो चोर होते हैं दूसरों के जेब काटते हैं पब्लिक की आंखों में धूल डालते हैं मेरे जैसा सूट पहनते हैं उन्हें लोग शरीफ समझते हैं. लेकिन जो पुराने फटे कपड़े पहनते हैं फिर चाहे वो ईमानदार ही क्यों ना हो उन्हें धर लिया जाता है (आवारा)

12. हम तो दिल के सौदागर हैं, दिल खरीदते हैं और दिल बेचते हैं (संगम)

राज कपूर
source : India Today

13. संगम तो वो है जहां दिल, दिल से मिलता है, आत्मा आत्मा से मिलके परमात्मा हो जाती है (संगम)

14. दो सुईयो के बीच जिंदगी क्या क्या खेल दिखाए, नया पुराना नाटक करता वक्त गुजरता जाए (कल आज और कल)

15. अच्चाई की कोई सीमा नहीं होती, और बुराई का कोई अंत नहीं (धरम करम)