Home Azab Gazab दुर्लभ बॉम्बे ब्लड ग्रुप के बारे में जानिये कुछ बातें

दुर्लभ बॉम्बे ब्लड ग्रुप के बारे में जानिये कुछ बातें

SHARE

रक्त समूह के बारे में पढ़ते हुए हमें यह पता चलता है कि सबसे कम लोगों में पाया जाने वाला रक्त समूह O Negative होता है. लेकिन O Negative से भी ज्यादा दुर्लभ बॉम्बे ब्लड ग्रुप होता है. जो कि सबसे कम लोगों में पाया जाता है. यहां तक कि बहुत कम लोगों को इस ब्लड ग्रुप के बारे में पता होता है. दुर्लभ बॉम्बे ब्लड ग्रुप के बारे में जानिये कुछ रोचक बातें.

रेयरेस्ट ऑफ रेयर

लाखों लोगों में से किसी एक में पाया जाने वाला दुर्लभ बॉम्बे ग्रुप रक्त समूह को रेयरेस्ट ऑफ रेयर ब्लड ग्रुप भी कहा जाता है.

दुर्लभ बॉम्बे ब्लड
Source-ScoopWhoop

4 प्रकार के सामान्य रक्त समूह

मानव शरीर में सामान्यत: रक्त समूह 4 प्रकार A, B, AB और O रक्त समूह के रूप में पाये जाते हैं. रक्तदान करने से पहले रक्त समूह का मिलान करना अनिवार्य होता है क्योंकि कम्पैटिबल रक्त समूह के ब्लड ना दिये जाने पर व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है.

बॉम्बे ब्लड ग्रुप

बॉम्बे ब्लड ग्रुप पूरे विश्व में लगभग 0.0004 प्रतिशत लोगों में ही पाया जाता है. एक अनुमान के अनुसार भारत में लगभग 10000 लोगों में से किसी एक व्यक्ति का ब्लड ग्रुप बॉम्बे ब्लड ग्रुप होता है.

बॉम्बे ब्लड ग्रुप को Hh ब्लड टाइप या रेयर ABO ग्रुप भी कहा जाता है.

बॉम्बे ब्लड ग्रुप की खोज

साल 1952 में डॉक्टर वाई एम भेंडे ने इस दुर्लभ बॉम्बे ब्लड ग्रुप की खोज की थी. यह अनोखा ब्लड ग्रुप सबसे पहले उस समय के बॉम्बे के कुछ लोगों में सबसे पहले पाये जाने के कारण इसे बॉम्बे ब्लड ग्रुप कहा गया.

इस ब्लड ग्रुप में एच एंटीजन की कमी होती है जिसे बॉम्बे फेनोटाइप के रूप में जाना जाता है.

किसे ब्लड दे सकता है और किससे ले सकता है

बॉम्बे ब्लड ग्रुप वाला व्यक्ति जरूरत पड़ने पर ABO ब्लड ग्रुप वाले को ब्लड दे सकता है लेकिन ABO ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति से ब्लड ले नहीं सकता है. इस ब्लड ग्रुप वालों के सिर्फ Hh ब्लड टाइप वाले लोग ही अपना ब्लड दे सकते हैं.

ब्लड समूहीकरण (Blood Grouping)

साल 1990 से 1902 के बीच के. लैंडस्टीनर ने मनुष्य के रक्त समूहों को मुख्य चार भागों में विभाजित किया था. A, B, AB और O रक्त समूह. O समूह के लोग किसी भी रक्त समूह वाले व्यक्ति को अपना खून दे सकते हैं इसलिए यूनीवर्सल डोनर कहलाते हैं जबकि AB रक्त समूह के लोग यूनीवर्सल रेसिपिएंट कहलाते हैं क्योंकि यह अन्य सभी रक्त समूह वाले लोगों से रक्त ले सकता है.