Home Religion डेढ़ सौ साल बाद आया ऐसा चंद्र ग्रहण, ये 7 काम बिल्कुल...

डेढ़ सौ साल बाद आया ऐसा चंद्र ग्रहण, ये 7 काम बिल्कुल न करें

ऐसा कहा जाता है कि कोई भी ग्रहण लगने पर भगवान कष्ट में होते हैं लेकिन अगर इसका वैज्ञानिक कारण देखा जाए तो एक ग्रह दूसरे ग्रह का चक्कर लगाते हैं तो ग्रहण लगता है. शास्त्रों और विज्ञान में जंग तो सदियों से चलती आ रही है लेकिन इसका निवारण आज तक सामने नहीं आ पाया. इस बार सदी का सबसे बड़ा चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है जो 27 जुलाई, 2018 को लगने वाला है.

इस बार का चंद्र ग्रहण गुरु पूर्णिमा के दिन लगेगा और ऐसा योग 19 सालों के बाद होगा, क्योंकि इससे पहले 16 जुलाई साल 2000 में गुरु पूर्णिमा को चंद्रग्रहण लगा था. ये चंद्रग्रहण दो संयोगों में पड़ेगा, पहला ये कि चंद्र ग्रहण अष्टांग योग में 104 सालों के बाद पड़ रहा है और दूसरा ये कि गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्रगहण की स्थिति का योग 19 सालों के बाद होगा.

चंद्र ग्रहण में भूलकर भी ना करें ये काम :

चंद्र ग्रहण
Image Source : firstpost

शास्त्रों के अनुसार, ग्रहण के दौरान प्रतिमा स्पर्श, पूजा पाठ, भोजन करने से बचने के साथ-साथ गर्भवती महिलाओं को भी बहुत सचेत रहने की जरूरत होती है. इस बार का चंद्र ग्रहण 150 सालों के बाद लगेगा और ऐसा दुर्लभ चंद्रग्रहण जिसमें कुछ कामों से बचने के साथ-साथ गर्भवती महिलाओं को भी बचना अनिवार्य होगा.

1. ग्रहण शुरु होने से पहले और समाप्त होने पर गर्भवती महिलाओं को स्नान जरूर करना चाहिए. क्योंकि ग्रहण की तरंगों के कारण वातावरण दूषित हो जाता है जिससे बचने के लिए गर्भवती महिलाओं को शुद्धि की जरूरत होती है.

2. जिस समय ग्रहण काल चल रहा हो तब गर्भवती महिलाओं को बाहर नहीं निकलना चाहिए. ऐसा कहा जाता है कि गर्भवती महिलाओं के ऊपर अगर ग्रहण का असर पड़ जाता है तो बहुत बड़ी समस्या हो सकती है.

3. गर्भवती महिलाओं को घर में भी रहने के लिए बहुत से जतन करने पड़ेंगे. जैसे उन्हें अपने पेट पर तुलसी, चंदन, गेरू या फिर गोबर का लेप लगाना चाहिए. ऐसा करने से गर्भवती महिलाओं के गर्भ में पल रहे उनके बच्चे पर ग्रहण का असर नहीं पड़ने देता.

4. ग्रहण के दौरान अगर खाना बहुत जरूरी हो जाए या फिर गर्भवती महिला कमजोरी महसूस करे तो उसे वही खाना लेना चाहिए जिनमें सूतक लगने से पहले तुलसी पत्र या कुश डाल दिया हो तो उसे ही खाने के रूप में लेना चाहिए.

5. गर्भवती महिलाओं के ग्रहण के दौरान चाकू, छुरी, ब्लेड, कैंची जैसी काटने की किसी भी चीज का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. इससे गर्भ में पल रहे बच्चे के अंगों पर बुरा असर पड़ता है.

6. गर्भवती महिलाओं को नुकीली चीजों से दूर रहना चाहिए और उनका इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए. ग्रहण के दौरान उन्हें कोई भी गलती नहीं करनी चाहिए और हो सके तो घर के कार्यों को ना करने फैसला लेना बेहतर होता है.

7. गर्भवती महिलाओं को नुकीली चीजों के साथ-साथ किसी भी तरह की सिलाई या बुनाई भी नहीं करनी चाहिए, क्योंकि इसका बहुत बुरा असर उनके होने वाले बच्चे के अंगो पर पड़ सकता है.

यह भी पढ़ें : इन 5 पंजाबी एक्ट्रेस के सामने दीपिका, कटरीना भी हैं फेल