Home Religion सावन 2018 : कई सदी के बाद आया ऐसा संयोग, शिवजी को...

सावन 2018 : कई सदी के बाद आया ऐसा संयोग, शिवजी को खुश करने के लिए ऐसे करें पूजन

28 जुलाई यानि शनिवार से सावन लग गया और ऐसा बताया जा रहा है कि ऐसा संयोग पूरे 100 सालों के बाद आया है. ऐसे में अगर सही तरीके से भगवान शिव का पूजन करें तो आपको मनवांछित फल मिल सकता है. इस सावन भगवान शिव को खुश करना और भी आसान होगा क्योंकि जो संयोग इस बार आया है वो आपने पहले नहीं देखा होगा.

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार भी आप भी अगर आपने सही विधि से भोलेनाथ को पूजा तो आपके घर और जीवन में खुशियों का आगमन हो जाएगा.

सावन में कुछ इस तरह पूजें भोलेनाथ को :

वैसे तो शिव शंभु बहुत ही भोले हैं उन्हें मनाना बुहत आसान है लेकिन अगर वे आपसे रुष्ट हो गए तो बस उनके क्रोध को शांत करना आसान नहीं होता. चलिए जानिए भोलेनाथ को कैसे मनाना है इस सावन में ?

1. शनिवार और अमावस्या साथ-साथ :

सावन 2018
Image Source : jagran

ज्योतिषाचार्य के अनुसार, इस सावन में सौ सालों के बाद शनिवार का योग बन रहा है और इसी में अमावस्या का होना सोने पे सुहागा है. ये संयोग सौ सालों के बाद ही बनता है और इसका नक्षत्र 27 जुलाई की रात्रि 1.50 से शुरु हो गया है. यही सावन का प्रथम चरण भी मान जाएगा. ऐसे में जिनकी कुंडली में काल सर्प योग, शनि की ढैय्या, शनि की साढ़े साती, शनि की महादशा और अंतर्दशा या शनि या चंद्रमा नीच दशा में है तो वे उसे सुधार सकते हैं. जिन्हें बहुत सारी समस्यओं का सामना करना पड़ रहा है तो उन्हें शिवजी के साथ-साथ शिव जी की भी पूजा करनी चाहिए.

2. सावन पूरे 30 दिन :

सावन 2018
Image Source : Free Press Journal

कुछ विद्वान पंडितों ने बताया कि पंचाग के अनुसार, इस बार सावन में चार सोमवार है और सावन पूरे 30 दिनों का होगा. कृष्ण पक्ष 14 दिनों का और शुक्ल पक्ष 16 दिनों का है. इसलिए इस सावन के महीने में रुद्राभिषेक का अपना अलग ही महत्व होगा. वे लोग जिनकी शनि की साढ़े साती चल रही है, उन्हें सावन के पहले दिन रुद्राभिषेक अवश्य करना चाहिए, दोष दूर होंगे.

3. पहले सोमवार का है शुभ योग :

Image Source : Patrika

इस साल सावन का पहला सोमवार 30 जुलाई को पड़ रहा है और इसे सौभाग्य योग्य बताया जा रहा है. ये एक धनिष्ठा नक्षत्र है और द्विपुष्कर योग का भी संयोग है, ऐसे में भगवान शिव जिन्हें जल्दी प्रसन्न हो जाने के कारण आशुतोष भी कहते हैं उनकी पूजा दूध, दही, मधु, चावल, पुष्प और गंगाजल से करें.

4. रोटक व्रत :

Image Source : Patrika

इस साल सावन के महीने में रोटक व्रत भी लगने वाला है और शास्त्रों के अनुसार, जिस साल सावन में 4 सोमवार होते हैं उस साल ये व्रत लगता है. इस व्रत के बारे में ऐसी मान्यताएं हैं कि जो भक्त रोटक व्रत पूरा करता है यानी सावन के सभी सोमवार का व्रत रखता है उसकी भगवान शिव और माता पार्वती सभी इच्छाएं पूरी करते हैं.

5. रक्षाबंधन के दिन होगा समापन :

Image Source : India

28 जुलाई से शुरु होने वाला सावन 26 अगस्त तक चलेगा और अगले दिन होगा रक्षाबंधन. सावन के महीने में पड़ने वाले मंगलवार के दिन माता पार्वती के लिए व्रत रखना भी बहुत शुभ माना जाता है, इस व्रत को गौरी मां के लिए रखा जाता है. जिसे सुहाग के लिए बहुत ही शुभ माना जाता है. इससे कन्या के विवाह के योग भी तेज होते हैं और वैवाहिक जीवन में सुख आनंद बना रहता है.

6. शिव पूजन ऐसे करें :

Image Source : Bhrigu Mantra

ऐसा कहा जाता है कि भगवान शिव एक लोटा जल में भी प्रसन्न होने वाले भगवान हैं, बस वो जल श्रद्धा के साथ चढ़ाया गया हो. अगर कोई व्यक्ति शिवजी की कृपा प्राप्त करना चाहता है तो उसे रोज शिवलिंग पर जल अर्पित करना चाहिए. विशेष रूप से सावन के हर सोमवार में और फिर शिवजी का पूजन करना चाहिए. इस नियम से शिवजी की कृपा बरसती है और भगवान आपकी सभी मनोकामनाएं भी पूरी करते हैं.

यह भी पढ़ें : सावन 2018 : शिवजी की पूजा के अलावा हरे रंग को भी दें महत्वता, जानिए 5 फायदे