Home Health ऐसा आर्टिफिशियल इटेंलिजेंस जो आंखों कि रेटिना देखकर बतायेगा शरीर कि बीमारियां

ऐसा आर्टिफिशियल इटेंलिजेंस जो आंखों कि रेटिना देखकर बतायेगा शरीर कि बीमारियां

Google विश्व स्तर का एक ऐसा सर्च इंजन है जिससे इंसान तमाम प्रकार कि जानकारी प्राप्त कर सकता है. गूगल कई तरह के शोध अनुसंधान करता रहता है यह सामाजिक, आर्थिक और स्वास्थ्य किसी से भी संबधित हो सकता है. अब गूगल स्वास्थ्य के क्षेत्र में ऐसी तकनीक लाने जा रहा है. जिससे आंखों की रेटिना को देखकर ह्रदय की बीमारी के बारे में बताया जा सकता है.

Source: Onlymyhealth

दुनियाभर में सबसे ज्यादा मौतें होने का कारण दिल कि बीमारीयां होती हैं सिर्फ भारत में दिल कि बीमारियों से मरने वालों कि संख्या लाखों में है. इनमे ज्यादातर बीमारियों की वजह समय पर पता न चल पाना होता है. ऐसे में इस तकनीक के माध्यम से लाखों लोगों कि जान को बचाया जा सकेगा.

स्वास्थ्य कि मिल सकेगी जानकारी-

गूगल के शोधकर्ताओं ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यम से एक ऐसा सिस्टम बनाया है. जो आपकी आखों को स्कैन करते ही आपके स्वास्थ्य के बारे में सारी जानकारी उपलब्ध करा देगा. इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यम से व्यक्ति की उम्र, ब्लड प्रेशर, धूम्रपान और एल्कोहल संबंधी सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त हो जायेगी.

देगा ह्रदय कि पूरी जानकारी –

इस तकनीक की महत्वपूर्ण बात यह है कि इससे व्यक्ति के दिल के बारे में काफी जानकारियां मिले सकेंगी. इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यम से हृदय रोगों का सही समय पर इलाज और बचाव करना संभव हो पाएगा. इस प्रकार कि जानकारी नेचर जर्नल बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में प्रकाशित एक पत्र के माध्यम से दी गई है.

कब आएगा हार्ट अटैक –

इस प्रकार कि तकनीक विकसित होने से मेडिकल साइंस को काफी मदद मिलेगी, क्योंकि ये तकनीक मरीज के शरीर और बीमारियों के बारे में बिना किसी टेस्ट और डायग्नोस्टिक मशीन के सब कुछ बता देगी. इस तकनीक के माध्यम से व्यक्ति को हार्ट अटैक का कितना खतरा है और उसे कितने सालों में ये बीमारी होने की संभावना है सब कुछ पता चल जायेगा.

एरिथमिया
एरिथमिया

आंख की पिछली आंतरिक दीवार पर ढेर सारी रक्त वाहिकाएं होती हैं, जो शरीर के पूरें स्वास्थ्य के बारे में जानकारी दे सकती हैं. गूगल जल्द ही इस सिस्टम को आम लोगों के लिए उपलब्ध करवाएगा.