Home Azab Gazab यूरोप का सबसे प्रदूषित शहर पेरिस, प्रदूषण रोकने के लिए उठा रहा...

यूरोप का सबसे प्रदूषित शहर पेरिस, प्रदूषण रोकने के लिए उठा रहा है सख्त कदम

पूरी दुनिया इस समय प्रदूषण कि समस्या से जूझ रही है. प्रदूषण के कारण लोगों में तमाम प्रकार कि बीमारियां उत्पन्न हो रही है. विश्व के तमाम देश इस समस्या से निजात पाने के लिए प्रयासरत हैं. विश्व में बहुत सारे बड़े शहर हैं जो प्रदूषण से पूरी तरह ग्रसित हैं, उन्ही में से एक है पेरिस.

Image Source: Inhabitat

पेरिस में बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए, नियम थोड़े सख्त और परिवर्तित कर दिये गए है. ऑड़-इवन व्यवस्था के बाद महीने के पहले रविवार को कारों के चलने पर रोंक लगा दिया गया है. कार चलने वाली उन सड़को पर महीने के पहले रविवार को दिन में सुबह 10 बजे से शाम के 6 बजे तक पैदल चलने वाले औऱ साइकिल चलाने वालों के लिए खाली रखा जायेगा.

इस प्रकार के प्रयास का मकसद लोगों को परेशान करना नही बल्कि उन्हे स्वस्थ वातावरण उपलब्ध कराना है ताकि वह जहरीली हवा से निजात पा सकें. हालांकि दो पहियां वाहनो के चलने पर रोक नही है लेकिन उनकी रफ्तार 20 किमी. प्रति घंटे से ज्यादा न हो. इसके पहले पेरिस इस आयोजन को साल में एक बार आयोजित करता था

प्रदूषित शहर-  यूरोप के सबसे प्रदूषित शहरों में से एक है पेरिस, प्रदूषण के मामले में पेरिस का 13वां स्थान है जबकि लंदन का 25वां स्थान है वायु प्रदूषण के कारण लोगों कि कम हो रही उम्र को देखते हुए पेरिस में इस प्रकार का आयोजन किया जा रहा है

पेरिस में क्या बदलाव आया – पेरिस में इस प्रकार के अभियान से लोगों में जागरुकता बढ़ी है. ऑड़ इवन सिस्टम लागू किया गया है. 20 साल पुरानी कारों के चलने पर रोक लगा दिया गया है.

1990 से लेकर अब तक में 45 प्रतिशत कारों का प्रयोग कम हुआ है. लेकिन साइकिल और बाइक का इस्तेमाल 10 प्रतिशत तक बढ़ गया है. 2024 तक पेरिस शहर से डीजल कारें खत्म हो जायेगी.

पेरिस शहर में इस साल के प्रारम्भिक 5 महीने में  पिछले साल कि तुलना में 6.5 प्रतिशत कारें कम हुई है. पेरिस शहर का लक्ष्य 2030 तक हाइब्रिड़ और इलेक्ट्रिक वाहनें में शिफ्ट होना है.