Home History सिर्फ भगवान राम से ही नहीं जुड़ी ये दिवाली, जानिए और भी...

सिर्फ भगवान राम से ही नहीं जुड़ी ये दिवाली, जानिए और भी ऐतिहासिक घटनाएं

आज दिवाली की धूम पूरे देश में देखने को मिल रही है. भगवान लक्ष्मी-गणेश की पूजा करके लोग इस त्यौहार को मनाते हैं. ऐसा कहा गया है कि इस दिन भगवान राम रावण का वध करने के बाद अपनी पत्नी के साथ 14 साल बाद अयोध्या लौटे थे. जिसकी ख़ुशी में दीयों की जगमगाहट से पूरा अयोध्या चमक उठा था. तब से ये त्यौहार मनाया जाने लगा. लेकिन आज हम आपको इस त्यौहार से जुडी कई ऐतिहासिक घटनाओं के बारे में बताएंगे जिसके बारे में शायद ही आपको पता हो.

देवी लक्ष्मी का जन्मदिन-

रौशनी के इस त्यौहार को हिंदू धर्म का सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है. इस त्यौहार को देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु की शादी के रुप में मनाया जाता है. मान्यता है कि इस दिन माता लक्ष्मी का जन्मदिन भी माना जाता है. इसलिए उनकी इसदिन पूजा की जाती है और दिवाली मनाई जाती है. दिवाली के दिन लोग शगुन के तौर पर जुआ भी खेलते हैं. माना जाता है कि इस दिन देवी लक्ष्मी ने भगवान विष्णु के साथ चौसर का खेल खेला था.

ये भी पढ़ें- दीपावली पर माता लक्ष्मी घर आने के देती हैं यह 4 संकेत, जरूर पढ़िए

भगवान विष्णु से जुड़ा रहस्य-

ऐसा माना जाता है कि आज ही के दिन भगवान विष्णु ने वमन अवतार धारण करके लक्ष्मी जी को बाली की कैद से छुड़ाया था. इसके अलावा माना जाता है यह त्योहार इसलिए भी मनाया जाता है क्योंकि इस दिन भगवान कृष्ण ने नरकासुर का वध किया था. नरकासुर ने 16,000 महिलाओं को बंदी बना रखा था जिन्हें कृष्ण ने उसका वध करके मुक्त किया था.

ये भी है खास बात-

इस दिन हिंदू धर्म के महान राजा विक्रमादित्य का राजतिलक हुआ था. इसलिए भी दिवाली एक ऐतिहासिक त्योहार है. महार्षि दयानंद ने इस दिन निर्वान की प्राप्ति की थी. वहीं यह दिन जैन समुदाय के लिए भी खास है. इस दिन जैन गुरु महावीर ने निर्वान की प्राप्ति की थी इसलिए जैन समुदाय भी दिवाली मनाता है. सिक्ख समुदाय के लिए भी यह त्योहार खास है. इस दिन छठे सिक्ख गुरु हरगोबिंद को 52 अन्य राजाओं के साथ ग्वालियर फोर्ट में कैद से छोड़ा गया था.

ये भजी पढ़ें- नहीं सताएगा मौत का डर, आज के दिन करने होंगे ये उपाय

यहां भी मनती है दिवाली-

दिवाली भारत का एक ऐसा पर्व है जिसे हर कोई उत्सव के रुप में मनाता है, इसलिए ही इसे महापर्व कहा जाता है. भारत के अलावा नेपाल, सिंगापुर, मलेशिया, श्रीलंका, इंडोनेशिया, मॉरीशस, सूरीनाम, त्रिनिदाद और दक्षिण अफ्रीका में भी दिवाली का त्योहार मनाया जाता है. जहां पश्चिम बंगाल में दिवाली का त्योहार काली मां को समर्पित किया जाता है.