Home News सिर्फ 900 रुपये में हीरा खरीदें, खरीदने की पूरी प्रक्रिया यहां समझें

सिर्फ 900 रुपये में हीरा खरीदें, खरीदने की पूरी प्रक्रिया यहां समझें

अगर आपका सपना भी डायमंड खरीदने का है, तो ये सपना अब पूरा हो सकता है वो भी सिर्फ 900 रुपये की महीने की किश्त पर. इंडियन कमोडिटी एक्‍सचैंज (ICEX) SIP के जरिए रिटेल बायर्स को ये मौका दे रहा है. इसके जरिए मात्र 30 महीने में आपके पास 30 सेंट डायमंड पहुंच जाएगा.

डायमंड एसआईपी दुनिया में कही भी नहीं है, इसे भारत ही शुरू कर रहा है. डायमंड SIP स्कीम के तहत खरीदार को ICEX के ब्रोकर के पास अपना एक ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना होगा. इसके बाद ब्रोकर के पास कुछ पैसे जमा कराने होंगे. साथ ही यह बताना होगा कि ब्रोकर हर महीने की कौन सी तारीख को डायमंड (इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में) खरीदेगा.

ICEX तीन अलग-अलग साइज़ के हीरों की ट्रेडिंग शुरू करने जा रहा- 30 सेंट, 50 सेंट और 100 सेंट (यानी एक कैरेट).

स्टॉक मार्केट की तरह ही डायमंड कॉन्ट्रैक्ट की ट्रेडिंग भी डीमैट फॉर्म में ही होगी. खरीदार हीरे को फिजिकल फॉर्म में तभी कन्वर्ट करवा सकता है, जब उसके डीमैट अकाउंट में इसका वजन कम-से-कम 30 सेंट तक हो जाएगा. 50 सेंट यानी 1 कैरेट हीरे के लिए भी इसी तरह की एसआईपी स्कीम उपलब्ध होगी.

डायमंड खरीदने का फार्मूला:

मौजूदा समय में 30 सेंट हीरे की कीमत करीब 27,000 रुपए है, SIP के तहत ग्राहक हर महीने 1 सेंट की कीमत करीब 900 रुपए जमा कर सकता है. जब कीमत 30 सेंट के बराबर हो जाएगी तो ग्राहक उसको ले सकता है. लेकिन इसके लिए उसको लगातार 30 महीने तक SIP करते रहना होगा. इसी तरह 50 सेंट के डायमंड के लिए 50 महीने और 100 सेंट के डायमंड के लिए 100 महीने SIP करनी होगी.

ICEX के अधिकारी ने साफ किया कि अगर निवेशक कुछ महीनों बाद डायमंड एसआईपी में पैसे नहीं जमा कर पाता है तो जितनी SIP वो दे चुका है, उसके हिसाब से उतने वजन का हीरा खरीदकर उसके डीमैट अकाउंट में बना रहेगा. उसके अब वह जब चाहे, दोबारा खरीदारी शुरू कर सकता है.

खरीदार अपने अकाउंट में जमा हीरों को जब चाहे ICEX को बेच सकता है. उस समय के मार्केट प्राइस के हिसाब से उसे कीमत मिल जाएगी. ICEX जिन डायमंड की डिलिवरी करेगा, वह उन हीरों की शुद्धता की गारंटी और शुद्धता का प्रमाणपत्र भी दिगा.