Home Sports सेंचुरियन पुजारा चाहकर भी नहीं तोड़ना चाहेंगे तेंदुलकर का ये रिकॉर्ड जबकि...

सेंचुरियन पुजारा चाहकर भी नहीं तोड़ना चाहेंगे तेंदुलकर का ये रिकॉर्ड जबकि मात्र एक कदम हैं दूर बराबरी करने के

दुनिया भर के बल्लेबाजों का सपना होता है कि चाहे वो दुनिया के सबसे सफल बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ ना पाएं लेकिन कम से कम उसकी बराबरी जरूर कर लें।

भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा भी मास्टर ब्लास्टर तेंदुलकर के एक रिकॉर्ड को तोड़ने के न केवल बहुत करीब पहुंच गए हैं, बल्कि उससे मात्र एक कदम ही दूर हैं, लेकिन शायद ही पुजारा ये रिकॉर्ड कभी अपने नाम करना चाहें। क्योंकि मामला कुछ है ही ऐसा!

दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के दौरे पर निराशाजनक प्रदर्शन के बाद भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया में भी टेस्ट मैच में निराशाजनक प्रदर्शन से शुरुआत की है। टेस्ट मैच में भारतीय बल्लेबाजों पर फटाफट क्रिकेट की खुमारी छाई रही और बल्लेबाज ‘तू-चल, मैं-अभी आया’ की तर्च पर एक के बाद एक कर पवेलियन चलते बने।

जब साथी बल्लेबाज एक के बाद एक पवेलियन की राह पकड़ रहे थे ऐसे में दूसरे छोर से पुजारा ने संयमित पारी खेलना जारी रखा। पुजारा ने पहली पारी में नौंवे विकेट के रूप में रन आउट होने से पहले 246 गेंदों पर 123 रनों की शानदार शतकीय पारी खेली। पुजारा ने धैर्यपूर्वक खेलते हुए पारी में 7 चौके और 2 छक्के मारे।

 

बात करते हैं सचिन तेंदुलकर के उस रिकॉर्ड की जिसे चेतेश्वर पुजारा चाहकर भी नहीं तोड़ना चाहेंगे। दरअसल इस मैच में रन आउट होने से पहले पुजारा टेस्ट मैचों में 7 बार रन आउट हो चुके हैं। भारत की ओर से इससे ज्यादा बार सचिन तेंदुलकर (9) जबकि राहुल द्रविण (13) बार इस तरह आउट हुए हैं।

मतलब साफ है अब तक 8 बार रन आउट होने वाले पुजारा यदि और एक बार आउट हुए तो वो रन आउट होने के मामले में तेंदुलकर की बराबरी कर लेंगें, और यदि दो बार रन आउट हुए तो वो तेंदुलकर से इस मामले में आगे निकल जाएंगे।

दोस्तों क्या कहना है आपका क्या पुजारा इस मामले में तेंदुलकर से आगे निकलना चाहेंगे या फिर आगे की पारियों में फूंक-फूंक कर कदम रखेंगे। आपके बेशकीमती कमेंट्स का हमें बेसब्री से इंतजार है।