Home Facts कैसे शुरुआत हुयी मोटरकार की, भारत में सबसे पहले किसने खरीदी कार

कैसे शुरुआत हुयी मोटरकार की, भारत में सबसे पहले किसने खरीदी कार

मोटरकार के इतिहास के बारे में बहुत सी बातें कही जाती हैं. एक अनुमान के अनुसार भारत में पहली बार परिवहन के लिए पहिये का इस्तेमाल लगभग 4000 साल पहले किया गया था. दुनिया में पहली बार पहियों का इस्तेमाल 18वीं शताब्दी के अंत तक में किया गया था. दुनिया औऱ भारत में में चली पहली मोटरकार के इतिहास से जुड़ी कुछ बातें जानिये

दुनिया की पहली मोटरकार

1705 ईसवीं में जेम्स वॉट के द्वारा भाप इंजन के आविष्कार के बाद ऊर्जा से चलने वाले वाहनों के निर्माण कार्यों से जुड़े प्रयासों में तेजी आ गई थी. दुनिया की पहली मोटरकार साल 1769 में फ्रांसीसी नागरिक निकोलस जोसेफ कुगनोट के द्वारा बनाया गया एक तिपहिया वाहन माना जाता है.

मोटरकार उद्योग का विकास

साल 1878 में कार्ल बेंज और गोटलिब डेमलर ने जर्मनी में मोटरकार उद्योग की नींव रखी थी. साल 1885 में पेट्रोल इंजन के आविष्कार के साथ साल 1886 में डेमलर ने मोटर द्वारा संचालित कार का निर्माण किया था.

पहली मोटरकार
Source-Daimler

साल 1890 में दो फ्रांसीसी नागरिकों पैनहार्ड औऱ लेवसर ने डेमलर इंजन से चलने वाले मोटरकार का निर्माण शुरु किया था.

साल 1892 में अमेरिका में चार्ल्स डूरेया ने पेट्रोल इंजन से चलने वाली मोटरकार का निर्माण किया था. जहां साल 1898 में यूएसए में मोटरकार निर्माता कंपनियों की संख्या लगभग 50 के करीब थी वहीं साल 1908 के आसपास तेजी से बढ़ती हुई 240 के पार पहुँच गई थी.

पहली मोटरकार
Source-CarAndBike

भारत में चलने वाली मोटरकार

भारत में आधिकारिक रूप से पहली कार साल 1897 में कलकत्ता में मिस्टर फोस्टर के मालिक क्रॉम्पटन ग्रीवेस(Crompton Greaves) के पास देखी गई थी. साल 1898 में भारत में मुंबई शहर में 4 मोटरकारें खरीद कर लाई गईं थीं जिनमें से एक जमशेदजी टाटा की थी.