HistorySports

44 साल के हुए क्रिकेटर ‘रिकी पोंटिंग’, जानिए कैसे बन गये दुनिया के सबसे बड़े कप्तान

क्रिकेट की दुनिया में अब तक के सबसे सफल कप्तानों में से एक रिकी पोंटिंग आज अपना 44वां जन्मदिन मना रहे हैं. साल 1974 में आस्ट्रेलिया में जन्म लेने वाले इस खिलाड़ी ने 15 फरवरी साल 1995 में अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना कदम रखा. जिसके बाद लगातार एक के बाद एक रिकॉर्ड इनके नाम होते चले गये.

photo credit-Dainik Bhaskar

वनडे खेलने वाले रिकी पोंटिंग को पहले शायद ही कोई जनता होगा. लेकिन देखते ही देखते ये इतने बड़े कप्तान और बल्लेबाज बन गये की पूरी दुनिया ही इनकी दीवानी हो गयी. जानकारी के लिए बता दें कि रिकी पोंटिंग इंटरनेशनल क्रिकेट में अब तक के सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कप्तान हैं. इन्होनें अपने पूरे करियर में 27 हजार 4 सौ 83 बनाए. जिसमें से 71 शतक और 146 अर्धशतक शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- ये भी पढ़ें- वकील से कैसे बन गईं देश की पहली महिला राष्ट्रपति, प्रतिभा देवी सिंह पाटिल के बारे में जानिए खास बात

photo credit-cricketgyani

रिकी पोंटिंग पूरी दुनिया के एक ऐसे खिलाड़ी हैं जिसने 100 से ज्यादा टेस्ट मैचों में जीत हांसिल की है. अपने करियर में कुल 108 टेस्ट मैच जीते हैं. साथ ही अपने 100वें टेस्ट की दोनों परियों में शतक जड़ने वाले एक अकेले खिलाड़ी रिकी पोंटिंग हैं. पॉन्टिंग ने 1999, 2003 और 2007 में ऑस्ट्रेलिया को वर्ल्ड चैंपियन बनाया.

ये भी पढ़ें- आजाद भारत में गुलाम रहे गोवा से जुड़ा है आज का इतिहास, जानिए कैसे मिली आजादी

photo credit-india

रिकी पोंटिंग दुनिया के पहले ऐसे बल्लेबाज थे जिन्होनें टेस्ट खेलने वाले हर देश के खिलाफ शतक जड़ा था. इन्होनें अपनी कप्तानी में आस्ट्रेलिया को तीन बार वर्ड कप जितवाया. इसके अलावा दो बार आईसीसी चैम्पियन ट्राफी को भी अपने नाम किया.

ये भी पढ़ें- आज का इतिहास दिल्ली के नाम, जहां भारत की कलाकृतियों का है अनूठा संगम

photo credit-SportsWallah

ये भी पढ़ें- महिलाओं की पहली उड़ान से जुड़ा है इंडिया का इतिहास, जानिए आज क्या हुआ था खास

रिकी पोंटिंग कई बार प्लेयर ऑफ़ द इयर चुना गया. इतना ही नहीं इन्होनें अपनी मेहनत और बलबूते के जरिये साल 2006 में विस्डन क्रिकेट ऑफ़ द इयर का सम्मान हासिल किया. जो वाकई काबिले-ए-तारीफ है.

Tags
Show More
Close
Close