Take a fresh look at your lifestyle.

Afghanistan History : अफगानिस्तान से जुड़ी रोचक बातें जानिये

17वीं सदी तक दुनिया में अफगानिस्तान नाम का कोई देश नहीं था.

AFGHANISTAN का जिक्र सबसे पहले 500 ईसा पूर्व से मिलता है जब यहां पर हख़ामनी वंश का राज था. हालांकि इस बात के पक्के सबूत हैं कि इससे पहले यह क्षेत्र मेड़ीज़ साम्राज्य का हिस्सा हुआ करता था और इसके कुछ क्षेत्र सिंधु घाटी सभ्यता के अंतर्गत आते थे.

लगभग 4 हज़ार साल पहले आर्य यहां पर आए. ईसा से 700 साल पहले अफगानिस्तान के उत्तरी क्षेत्र में गांधार महाजनपद था. जिसके बारे में महाभारत समेत कई और हिंदु – बौद्ध ग्रंथों में बताया गया है.

17वीं सदी तक दुनिया में अफगानिस्तान नाम का कोई देश नहीं था. अर्थात आज से मात्र 300 वर्ष पूर्व तक अफगानिस्तान एक नाम से कोई राष्ट्र नहीं था. 6वीं सदी तक यह एक हिन्दू और बौद्ध बहुल क्षेत्र था. यहां के अलग-अलग क्षेत्रों में हिन्दू राजा राज करते थे. उनकी जाति कुछ भी रही हो, लेकिन वे सभी आर्य थे. वे तुर्क और पठान आर्यवंशीय राजा थे.

DNA

यहां लंबे समय की हिंदु-बौद्ध सभ्यता को 7वी सदी से 11वीं सदी के बीच मुसलमान शासकों ने खत्म कर दिया. इसके बाद अफगानिस्तान के इतिहास में कई उतार-चढ़ाव आए और आज यह एक इस्लामिक देश है.

ध्यान देने वाली बात यह है कि 1700 ईसवी तक अफगानिस्तान नाम का कोई देश नहीं था, इसे यह नाम दुरानी शासकों के दौरान मिला.

अफगानिस्तान से मिले कंकालों और सबूतों से पता चला है कि आज से 50 हज़ार साल पहले इंसान यहां आ चुका था जो शायद पालतु जानवर पालने के साथ थोड़ी बहुत खेती भी करता था.

अफ़ग़ानिस्तान कैसे बना इस्लामिक देश

लगभग 4 हज़ार साल पहले जब अफगानिस्तान के क्षेत्र में आर्य लोग दाखिल हुए और सिंधु घाटी के लोगों से संपर्क के बाद आज के हिंदु धर्म ने नया रूप लेना शुरू किया.


ईसा सन् 7वीं सदी तक गांधार के अनेक भागों में बौद्ध धर्म काफी उन्नत था. 7वीं सदी के बाद यहां पर अरब और तुर्क के मुसलमानों ने आक्रमण करना शुरु किए और 870 ई. में अरब सेनापति याकूब एलेस ने अफगानिस्तान को अपने अधिकार में कर लिया. इसके बाद यहां के हिन्दू और बौद्धों का जबरन धर्मांतरण अभियान शुरू ‍हुआ. सैंकड़ों सालों तक लड़ाइयां चली और अंत में काफिरिस्तान को छोड़कर सारे अफगानी लोग मुसलमान बन गए.

परिवार सबसे पहले

अफगानिस्तान में नया साल 21 मार्च को मनाया जाता है, जो बसंत का पहला दिन होता है. अफगान लोगों में परिवार का बहुत महत्व है और शादी के बाद सारा परिवार साथ रहता है.

Vatican City है दुनिया का सबसे छोटा देश, इसकी आबादी सुनकर आप रह जायेंगे दंग

Comments are closed.