Take a fresh look at your lifestyle.

Happy Birthday : एक समय था जब Arun Govil को लोग बुलाने लग थे ‘श्रीराम’

80 के दशक में टीवी पर निर्देशक-निर्माता रामानंद सागर ने ‘रामायण’ प्रसारित किया जिसे दूरदर्शन पर टेलिकास्ट किया जाता था. इस शो में अभिनेता Arun Govil भगवान राम का ऐसा किरदार निभाया कि लोग असल में उन्हें ‘श्रीराम’ के नाम से पुकारना शुरु कर दिया था. इस शो के बाद कई एक्टर्स को पॉपुलरैरिटी मिली थी जिसमें ‘दारा सिंह’ का नाम भी मुख्य है. इस आध्यात्मक सीरीयल को बाद में सोनी चैनल पर भी प्रसारित किया गया था.

Arun Govil के बारे में खास बातें :

Arun govil
Image Source : Zee News

1. Arun Govil का जन्म यूपी के मेरठ में 12 जनवरी, 1958 को हुआ था. मेरठ में जन्में अरुण की परवरिश यूपी के शहर शाहजहांपुर में हुई. वे अपने माता-पिता, 6 भाई और दो बहनों के साथ वहां रहते थे.

2. अरुण के पिता एक प्राइवेट नौकरी करते थे और अरुण घर के बड़े थे इसलिए वे चाहते थे कि अरुण सरकारी नौकरी करें लेकिन अरुण कुछ ऐसा करना चाहते थे जिससे लोग उन्हें याद रखें.

3. Arun Govil की शुरुआती पढ़ाई शाहजहांपुर में और ग्रेजुएशन की पढ़ाई मेरठ यूनिवर्सिटी से पूरी हुई. इसके बाद वे मुंबई आ गए अपने एक दोस्त के पास और यहां काम ढूंढने लगे.

Image Source : timesofindia

4. बहुत मुश्किलों के बाद उन्हें फिल्म इंडस्ट्री में स्पॉट ब्वॉय की नौकरी मिली. धीरे-धीरे वे अपनी जगह बनाने में कामयाब हुए और उन्हें पहला ब्रेक प्रशांता नंदा ने अपनी फिल्म पहेली (1977) में दिया.

5. अरुण को हमेशा सपोर्टिंग एक्टर के तौर पर ही काम मिला और वे इससे बहुत खुश रहे. उन्होंने कानून, सावन को आने दो, ससुराल, जय करोली मां, जियो तो ऐसे जियो, अय्यास, लल्लु राम, श्रद्धांजलि, राधा और सीता, हिम्मतवाला, सांच को आंच नहीं, हथकड़ी, जुदाई, ढाल, इतनी सी बात, दो आंखे बारह हांथ, मुकाबला और जस्टिस चौधरी जैसी फिल्मों में काम किया.

6. रामानंद सागर के साथ अरुण गोविल ने रामायण में काम तो किया ही साथ ही ‘विक्रम और बैताल’ में भी काम किया. ये दोनों सीरियल्स ने अपार सफलता हासिल की थी. इसके अलावा इनका ये शो सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पांच महाद्वीपों में दिखाया गया था.

Image Source : Zee News

7. ‘राम’ के किरदार को निभाने के बाद उन्हें कई तरह के धार्मिक किरदार निभाने के रोल ऑफर हुए. जिसमें हरिशचंद्र, विश्वात्मा और बुद्धा का किरदार शामिल है.

8. अरुण की पॉपुलैरिटी सिर्फ भारत में ही नहीं बल्की कई जगह बढ़ी थी. उन्होंने मिथोलॉजीकल इंडो-जैपनीज एनिमेशन मूवी ‘रामायण : द लेजेंड ऑफ प्रिंस राम’ में राम के लिए अपनी आवाज दी थी.

Image Source : AmarUjala

9. अरुण ने अभिनेता सुनील लहरी (जो रामायण में लक्ष्मण बने थे) के साथ अपनी प्रोडक्शन कंपनी भी खोली. जिसमें मशाल और इंडिपेंडेंस जैसे सीरियल प्रोड्यूस किये गये.

10. अरुण गोविंद ने अपनी सफलता के बारे में बात करते हुए एक इंटरव्यू में बताया था कि एक समय था जब आम जनता उन्हें भगवान कहती थी, तब उन्हें अंदर से खुशी मिलती थी. जब पहली बार ऐसा हुआ था तब वे रामानंद सागर के पास गये और उनका धन्यवाद किया.

यह भी पढ़ें : आलिया-रणवीर की फिल्म Gully Boy के ट्रेलर हुआ Social Media पर ट्रोल

Comments are closed.