Take a fresh look at your lifestyle.

इसलिए बॉलीवुड की HORROR MOVIE बन जाती है एक मजाक

भूतिया हवेली से बनाया जाता है हॉरर फिल्मों का क्लाइमेक्स

बॉलीवुड फिल्म की बात करे तो ये सबको पता होगी ये इन फिल्मों में नाच-गाना और मनोरंजन का तड़का कुछ ज्यादा ही होता है.  लेकिन आज हम बात करते हैं बॉलीवुड की भूतिया फिल्मों की यानी की HORROR MOVIE की. वैसे ये फिल्में बॉक्स ऑफिस पर तो अच्छा बिजनेस करती हैं पर इनकी क्वालिटी उतनी बेहतर नहीं होती की लोगों को ये लगे की इस फिल्म में कुछ नया था.

वैसे तो बॉलीवुड में बनने वाली हॉरर फिल्में मजाक लगती हैं. इन भुतिया फिल्मों से लोग डरते नहीं हैं बल्कि इनका मजा लेते हैं. आखिर क्यों लगती हैं बॉलीवुड डरावनी फिल्में मजाक? तो आज हम आपको बताते हैं की ऐसा क्यों होता है?

1. खूबसूरत हसीना

ये तो आपको हर हॉरर फिल्म में मिल ही जाएगी एक खूबसूरत हसीना और भूत हमेशा इनके ही पीछे पड़ता है.

2 . दरवाजे का खुलना

अचानक फटाक से दरवाजा ऐसे खुलता है, मानो अब तो भूत आ ही गया, लेकीन फिर पता चलता है कि अरे ये तो हवा से खुला है बोर हो गए ये सीन देख-देख कर.

3 . पुराना और खूनी

सब कुछ पुराना और खूनी होता है यहां तक कि फिल्म का नाम भी..जैसे पुरानी हवेली, पुराना मन्दिर, पुरानी क्रब, खूनी पंजा, खूनी इलाका, खूनी रात अब तो इनके नाम डरावने कम और मजाकिया ज्यादा लगते हैं. अब तो कुछ नया होना ही चाहिए.

 

4 . साउंड़

हॉरर फिल्मों में साउंड़ की भूमिका सबसे बड़ी होती है, लेकीन भारतीय भूतीया फिल्मों में ये साउंड़ कई बार ड़रावना कम और हंसाने वाला ज्यादा होता है.

5 . तांत्रिक

हर फिल्म में भूत को भगाने के लिए एक तांत्रिक ज़रूर आ जाता है जो घर में पैर रखते ही बोलता है ’कुछ तो गड़बड़ है, इस घर में मौत मंडरा रही है, मैं अमावस्या की रात को आऊंगा और भूत को पकड़ कर ले जाऊंगा’ ये बात अलग है कि आज कल तांत्रिकों की जगह प्रोफेसर लोगों ने ले ली है.

 

10. क्लाइमैक्स

सबसे जबरदस्त होता है हॉरर फिल्मों का क्लाइमैक्स जिसमें हीरो भगवान की किसी दिव्य शक्ति जैसे कोई तलवार, त्रिशूल, खंजर से भूत को आसानी से मार देता है.

टीवी की इस संस्कारी बहू ने कश्मीर में कराया हॉट PHOTO SHOOT

Comments are closed.