Take a fresh look at your lifestyle.

संकटमोचन हनुमान जी के बारे में नहीं जानते होंगे ये बात, जानिए किस वजह से हुआ था इनका जन्म

सभी संकट और परेशानीयों को हर लेने वाले श्री हुनमान जी के जन्म को लेकर कई किस्से हैं. जो सुंदरकांड में भी पढ़ने को मिलते हैं. हिंदू धर्म के अनुसार हुनमान को एक अलग ही स्थान दिया गया है. कहते हैं जिस घर में सुंदरकांड या रामायण का पाठ करवाया जाता है वहां वो किसी ना किसी रूप में जरुर आते हैं. आज हम आपको हनुमान जी से जुड़ी कुछ अनसुनी बातों के बारे बताएंगे.

photo credit-Flickr

1.शास्त्रों की मानें तो आज के समय में भी हनुमान जी की उपस्थिति का जिक्र किया गया है. साथ ही धर्म शास्त्रों के अनुसार इन्हें भगवान शिव का 11वां अवतार माना गया है. भगवान राम के भक्त हनुमान जी सभी के दुखों को हर लेते हैं, इसीलिए इनका नाम संकटमोचन भी है.

ये भी पढ़ें- जानिए दुनिया के सबसे बड़े मंदिर के बारे में, जहां की हर एक बात में है रोचक तथ्य

photo credit-picswe

2.हनुमान जो को लेकर ऐसी मान्यता है कि जो भी भक्त उन्हें सच्चे मन और श्रद्धा भाव से याद करता है तो वो उसे उसके सारे कष्टों से मुक्ति दिला देते हैं. हनुमान जी का जन्म अपनी माता के श्राप को हरने के लिए हुआ था.

ये भी पढ़ें- एक या दो नहीं, पूरे 14 तरह के होते हैं रुद्राक्ष, जानिए किससे मिलता है कैसा फल

3.शायद ही आपको पता हो कि भीम हनुमान जी के भाई थे क्योंकि वो भी पवनपुत्र थे. इसी तरह शास्त्रों में हनुमान जी के 108 नामों के मतलब का भी जिक्र किया गया है. सबको मिलाकर ‘जीवन का सार’ बन जाता है.

photo credit-hindi.indiatvnews

4.ऐसी बताया जाता है की जब श्री राम अपने गुरु की आज्ञा से हनुमान जी को सजा दे रहे थे तो हनुमान जी ने राम नाम जपना शुरू कर दिया था. जिसकी वजह से भगवान श्री राम द्वारा किये जा रहे सारे प्रहार बेअसर हो रहे थे.

ये भी पढ़ें- पन्ना रत्न’ में नजर आएं ऐसी चीजें, तो हो जाइये सतर्क, जानिए हैरान कर देने वाले रहस्य

5.माता सीता को अपनी मांग सिंदूर लगाते देख हनुमान जी ने भी अपना पूरा शरीर सिंदूर से रंग लिया था. जिसके बाद से उन्हें सिंदूर चढ़ाया जाने लगा.

Comments are closed.