Take a fresh look at your lifestyle.
Browsing Category

Ehsas

मधुशाला भाग 2 : कहा करो ‘जय राम’ न मिलकर, कहा करो ‘जय मधुशाला’

हाल ही में हमने आपको हरिवंश राय बच्चन की मशहूर रचना मधुशाला की पहली किस्त पढ़ाई थी, आज हम आपके लिए दूसरी किस्त ला रहे हैं, वैसे भी मधुशाला का आनंद थोड़ा-थोड़ा लेना ही ठीक है. तो पढ़िये मधुशाला की दूसरी किस्त... बड़े बड़े परिवार मिटें यों,…

मधुशाला भाग 1 : प्रियतम, तू मेरी हाला है, मैं तेरा प्यासा प्याला

मधुशाला की पहली किस्त आज हम आपके लिए ला रहे हैं. सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के पिता और मशहूर कवि हरिवंश राय बच्चन की लिखी मधुशाला अद्भुत रचना है. तो आज की पहली किस्त ये रही.... मृदु भावों के अंगूरों की आज बना लाया हाला, प्रियतम, अपने ही…

राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर के जन्म दिवस पर पेश हैं उनकी 5 लोकप्रिय कविताएं

कुछ कवि जनकवि होते हैं तो कुछ को राष्ट्रकवि का दर्जा मिलता है मगर एक कवि राष्ट्रकवि भी हो और जनकवि, यह इज्जत बहुत ही कम कवियों को नसीब हो पाती है. रामधारी सिंह दिनकर ऐसे ही कवियों में से एक हैं जिनकी कविताएं किसी अनपढ़ किसान को भी उतनी ही…

भारत के एक प्रसिद्ध पंजाबी शायर फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ की लोकप्रिय 20 रचनाएं

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ भारत के एक प्रसिद्ध पंजाबी शायर थे जिनको अपनी क्रांतिकारी रचनाओं की वजह से जाना जाता है. सेना, जेल तथा निर्वासन में जीवन व्यतीत करने वाले फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ ने कई नज़्में और ग़ज़लें लिखीं. इनकी प्रमुख रचनाएं जानिए आए…

इस सदी के दूसरे ग़ालिब कहे जाने वाले अहमद फ़राज़ की कुछ रचनाएं जानिए

अहमद फ़राज़ का असली नाम सैयद अहमद शाह था. इनका का जन्म पाकिस्तान के नौशेरां शहर में हुआ था. वे आधुनिक उर्दू के सर्वश्रेष्ठ रचनाकारों में गिने जाते हैं. इन्हें क्रिकेट खेलने का भी शौक था. लेकिन शायरी का शौक उन पर ऐसा छाया था कि वे अपने समय…

मुनव्वर राणा की 20 लोकप्रिय शायरियां

मुनव्वर राणा मशहूर शायर हैं. लोकप्रियता का अनुमान आप इसी बात से लगा सकते हैं कि उनकी रचनाओं का ऊर्दू के अलावा अन्य भाषाओं में भी अनुवाद किया गया है. इन्होंने ग़ज़लों के अलावा संस्मरण भी लिखे हैं इनकी लोकप्रिय रचनाओं में से कुछ पंक्तियां हम…

दुष्यंत कुमार : एक पत्थर तो तबीअ’त से उछालो यारो

दुष्यंत कुमार का जन्‍म उत्तर प्रदेश में बिजनौर जनपद की तहसील नजीबाबाद के ग्राम राजपुर नवादा में हुआ था. जिस समय दुष्यंत कुमार ने साहित्य की दुनिया में अपने कदम रखे उस समय भोपाल के दो प्रगतिशील शायरों ताज भोपाली तथा क़ैफ़ भोपाली का ग़ज़लों…

दुख में, दर्द में, तन्हाई में, रात में ये बेवफा शायरियां ही काम आती हैं

आज की रात पढ़िये कुछ दर्द, कुछ तन्हाई, कुछ दुख वाली बेवफा शायरियां. कुछ अपने दिल की बात कहिये और कुछ दूसरों के दिल का हाल पढ़िये. कमेंट बॉक्स में अपने किस्से भी शेयर करिये. तो पेश ए खिदमत है कुछ शायरियां... चांद सी शकल जो अल्लाह ने दे दी…

हिंदी ग़ज़ल के सशक्त हस्ताक्षर दुष्यंत कुमार के जन्मदिन पर जानिये उनके बारे में

दुष्यंत कुमार का जन्म उत्तर प्रदेश के बिजनौर जनपद के ग्राम राजपुर नवादा में 1 सितम्बर साल 1933 को हुआ था. दुष्यन्त का पूरा नाम दुष्यन्त कुमार त्यागी था. इलाहबाद विश्व विद्यालय से शिक्षा प्राप्त करने के उपरांत कुछ दिन आकाशवाणी भोपाल में…

कश्मीर की एक बच्ची की तस्वीर और कहानी जानकार आपकी आँखें भी नम हो जायेंगी

कश्मीर के तनावपूर्ण हालात किसी से भी छिपे नहीं हैं. चरमपंथियों और सेना के बीच संघर्ष में सबसे ज्यादा पिसते हैं आम नागरिक और उनके छोटे-छोटे अबोध बच्चे. इन दिनों सोशल मीडिया पर इस बारे में काफी बात हो रही है. वजह है कश्मीर की एक बच्ची की…