Take a fresh look at your lifestyle.

Computer में A और B ड्राइव क्यों नहीं होती है ? ड्राइव C से ही क्यों शुरू होती है ?

अक्सर आपने देखा होगा कि विंडोज़ फाइल को Computer के सी ड्राईव में स्टोर किया जाता है. इस ड्राइव के साथ छेड़छाड़ भी नहीं होती है. बाकी आप डी और ई के साथ जो चाहें करिये लेकिन सी के साथ नहीं.

जब हम USB लगाते हैं तो कम्प्यूटर में F और G भी दिखती है, अब सवाल उठता है कि C, E, F और G नाम की ड्राईव आसानी से दिख जाती है लेकिन A और B नाम की ड्राइव क्यों नहीं दिखती है ?

जब कम्प्यूटर की शुरुआत हुई तब कम्प्यूटर में आज जितना स्पेस नहीं होता था, दरअसल उस समय फ्लॉपी डिस्क ड्राइव हुआ करती थी. जिन्हें A ड्राइव के नाम से पहचाना जाता था. पहले फ्लॉपी डिस्क दो साइड में होती थी एक 5 1/4 और दूसरी 3 1/2 इनके लिये ही कंप्यूटर में A और B नाम के लेबल्स से ड्राइव होती थी.


इन फ्लॉपी में सारे किये गये कामों को सेव करके रखा जाता था. इसका कारण था कि उस समय हार्ड डिस्क में बहुत कम स्पेस होता था.

साल 1980 के बाद C ड्राइव हार्ड ड्राइव के नाम से जाना जाता था. इस Drive में कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड और iOS के लिए होता था.

फ्लॉपी का चलन खत्म होता चला गया, जिससे A और B ड्राइव के नाम पर केवल C ड्राइव ही रह गई.

वैसे ऐसा जरूरी नहीं है कि जिस ऑर्डर में Drive का नाम आता है उसे वैसे ही रखा जाए. अब आप इसे बदल भी सकते हैं लेकिन उसके लिए जरूरी है कि आपके पास एडमिनिस्ट्रेटिव राइट्स हों. आप ड्राइव को अब A, B, C नाम दे सकते हैं.

बैंक दे रही हैं नए तरह के ATM, क्या हैं इनके फायदे और नुकसान

Comments are closed.