यूएई में कितने देश हैं, दुबई का क्षेत्रफल कितना है, UAE की जनसंख्या कितनी है

यूएई मध्य पूर्व एशिया का एक महत्वपूर्ण और विकसित देश है. UAE पर्यटन का एक बड़ा केंद्र है. दुबई और अबु धाबी इसका मुख्य पर्यटन स्थल है. विदेशों लोग यहां अपनी छुट्टियां मनाने आते हैं. दुबई (Dubai) में स्थित बुर्ज खलीफा दुनिया का सबसे ऊंचा और मशहूर बिल्डिंग है. यूएई में कई अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के कार्यालय भी मौजूद हैं. UAE में अक्सर कई नामचीन हस्तियों के कार्यक्रम भी होने के कारण भी यह समाचारों में बना रहता है. 

Image Source : izkiz.com

UAE की आबादी कितनी है

लगभग 1 करोड़ की आबादी वाले इस देश में 96 प्रतिशत लोग मुसलमान है. हालांकि परंपरागत रूप से रूढ़िवादी और सत्तावादी रहा ये देश खाड़ी देशों में सबसे उदार देशों में से एक है.

एक मुस्लिम प्रधान देश होने के बावजूद ये तेजी से अपने आप को रुढ़िवादी से आधुनिक देश में बदलने की कोशिश कर रहा है. 

इतना सब जानने के बावजूद कई बार लोग दुविधा में रह जाते हैं कि यूएई, दुबई, अबु धाबी और शारजाह को लेकर भ्रमित हो जाते हैं. उन्हें लगता है ये सभी अलग-अलग देश हैं. लेकिन आज हम आपके सभी कंफ्यूजन को दूर कर देंगे. आज हम आपको बताएंगे कि यूएई क्या है? कैसे इसकी स्थापना हुई?  यूएई और दुबई, अबु धाबी और शारजाह में मुल अंतर क्या है? तो आइए जानते हैं विस्तार से….

यूएई क्या है

यूएई का पूरा नाम यूनाइटेड अरब एमीरेट्स है. हिंदी में इसे संयुक्त अरब अमीरात भी कहते हैं. यह सात अमीरातों से मिलकर बना एक संघ है. उदाहरण के तौर पर अमेरिका को ले सकते हैं. जैसे 50 राज्यों के मिलकर एक संघ बनाते हैं और उसी से यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका बनता है, ठीक उसी तरह से यूएई 7 अमीरातों के संघ से बना एक देश है. 

यह भी पढ़ें – UAE यानी की संयुक्त अरब अमीरात कैसे बना, UAE में कितने अमीरात हैं

अमीरात का मतलब क्या है

अमीरात एक अरबी शब्द है. जिसका मतलब होता है एक ऐसा राजनैतिक क्षेत्र या राज्य जहां वंशानुगत तौर पर एक अमीर राज कर रहा हो. हिंदी में कहें तो अमीरात का अर्थ रियासत होता है, जहां एक राजा का राज हो. इसलिए आप पाएंगे कि यूएई में सभी सात अमीरातों के प्रधान एक शेख हैं, जिसकी पीढ़ी दर पीढ़ी वहां राज करते आई है. 

कौन-कौन से अमीरातों का संघ है यूएई

यूएई सात अमीरातों का संघ है. दुबई, शारजाह, अबु धाबी, अजमान, फुजैराह, रास अल खैमाह, और उम्म अल क्वैन मिलकर एक संघ बनाते हैं, जिसे यूएई देश कहा जाता है.

ब्रिटिश सरकार से आजादी के बाद शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान ने 1971 में यूएई की स्थापना की थी.

UAE President Khalifa bin Zayed Al Nahyan
UAE President Khalifa bin Zayed Al Nahyan (Image source : Zawya)

2004 में उनकी मृत्यु के बाद उनके बेटे और अबु धाबी के प्रेसीडेंट शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान को यूएई की फेडरल काउंसिल का अध्यक्ष चुना गया, जो अब तक मौजूद हैं.

पहले 6 अमीरातों का संघ था यूएई

हालांकि स्थापना के समय यूएई 6 अमीरातों का ही संघ हुआ करता था लेकिन 1972 में रास अल खैमाह ने इस संघ से जुड़ा और यह सात अमीरातों का संघ हो गया.

यह भी पढ़ें – UAE की नई वीजा पॉलिसी क्या है, भारतीयों पर इसका क्या पड़ेगा फर्क

अभी तक आपको पता चल ही चुका होगा कि यूएई, दुबई, अबु धाबी और शारजाह में मुल अंतर क्या है. यूएई सात अमीरातों यानी राज्यों से मिलकर बना एक देश है, जबकि  दुबई, अबु धाबी और शारजाह एक अमीरात हैं और उसके अंतर्गत आते हैं. 

यूएई में सरकार कैसे बनती है

यूएई को सात अमीरतों से बनी सुप्रीम काउंसिल ऑफ रूलर्स के द्वारा शासित किया जाता है. सातों अमीरातों के अमीर (शासक) यानी शेख मिलकर सुप्रीम काउंसिल ऑफ रूलर्स बनाते हैं, जो प्रधानमंत्री और कैबिनेट की नियुक्ति करते हैं.

Sheikhs of UAE
Sheikhs of UAE (Image Source : dubai.travel-culture.com)

चुंकि यूएई सात अमीरातों का एक संघ है, इसलिए अमेरिका के तरह ही सभी अमीरातों के अपने कानून (मुलतः शरीया कानून) और नियम हैं. इसके अलावा इन सभी अमीरातों के अपने-अपने झंडे भी हैं.

हालांकि यूएई का अपना अलग झंडा जिसे सभी अमीरात मानते हैं और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उसी के अंतर्गत काम भी करते हैं. सभी अमीरातों को नियम-कानून बनाने और प्रशासन की पूरी स्वायतता है.

अबु बकर अल बगदादी (abu bakr al-baghdadi) का मोहम्मद पैगंबर से क्या रिश्ता था(