SAARC देशों की बैठक रद्द, पाकिस्तान का ‘तालिबान कनेक्शन’ है वजह, पूरा ब्योरा

25 सितंबर को न्यूयॉर्क में होने वाली सार्क (SAARC) देशों की बैठक को रद्द कर दिया गया है. यह बैठक अफगानिस्तान (Afghanistan) संकट के कारण रद्द हुई है. न्यूज एजेंसी ANI के सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान इस सम्मेलन में अफगानिस्तान (Afghanistan) के प्रतिनिधि के तौर पर तालिबानी नेता को शामिल करना चाहता था लेकिन अन्य देशों की असहमति के कारण इस बैठक को रद्द करना पड़ा.

सार्क (SAARC) देश इस बार की बैठक में अफगानिस्तान (Afghanistan) को शामिल नहीं करना चाहते थे. तालिबान सरकार आने से पहले सार्क देशों की बैठक में अफगानिस्तान का प्रतिनिधित्व पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी या उनके मंत्री करते थे.

बैठक में तालिबानी नेता को शामिल करना चाहता था पाकिस्तान

पाकिस्तान ने प्रस्ताव दिया था कि सार्क की बैठक में तालिबान के प्रतिनिधि को शामिल किया जाना चाहिए लेकिन बाकी सदस्य देशों ने इस बात को ध्यान में रखते हुए खारिज कर दिया कि नए तालिबान शासन को अभी तक दुनियाभर के देशों ने मान्यता नहीं दी है.

सार्क (SAARC) क्या है

सार्क का विचार सबसे पहले साल 1980 में आया था. साल 1981 में पहली बार सात देशों के विदेश सचिवों ने श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में बैठक की. 7-8 दिसंबर साल 1985 को हुए शिखर सम्मेलन में 7 देशों ने सार्क चार्टर पर हस्ताक्षर किया. इस तरह सार्क की स्थापना 8 दिसंबर साल 1985 को बांग्लादेश की राजधानी ढाका में हुई. सार्क का पूरा नाम दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (The South Asian Association for Regional Cooperation) है. सार्क का मुख्यालय नेपाल की राजधानी काठमांडू में स्थित है. वर्तमान में इसके सेक्रेटरी जनरल Esala Weerakoon हैं.

Source- Baliyan’s Inside

सार्क देशों की संख्या

सार्क में आठ देश शामिल है. अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, भारत, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका. 14वें शिखर सम्मेलन के दौरान अप्रैल साल 2007 में अफगानिस्तान सार्क देशों के संगठन में शामिल हुआ.

सार्क का सिद्धांत

  • सार्क देश की नीति संप्रभुता, अखंडता और राजनीतिक स्वतंत्रता को बढ़ावा देती है.
  • सार्क देश क्षेत्रीय सहयोग को बढ़ावा देते हैं.
  • सार्क देश सामाजिक मुद्दे, कृषि एवं ग्रामीण विकास, शिक्षा, सुरक्षा एवं संस्कृति, ऊर्जा एवं प्रौद्योगिकी जैसे मुद्दों पर बात करते हैं.

सार्क का उद्देश्य

  • सार्क देशों का उद्देश्य शांति की स्थापना करना है.
  • दक्षिण एशियाई देशों के लोगों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करना.
  • आर्थिक, सामाजिक, और सांस्कृतिक विकास को बढ़ावा देना.
  • विकासशील देशों के साथ मिलकर आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देना.
  • तकनीक एवं वैज्ञानिक क्षेत्रों में अपनी सहयोग एवं सहभागिता को प्रोत्साहित करना.

ऑस्ट्रेलिया, यूके और यूएसए के बीच हुआ AUKUS समझौता क्या है, क्या होती है परमाणु पनडुब्बी