Religion

गंगा जल को क्यों माना गया है सबसे पवित्र जल, जानिए यहां

हिंदू धर्म में गंगा नदी को देवी का स्वरूप माना गया है. जिसे सबसे पवित्र नदी का दर्जा दिया गया है. कई गुणों से विद्यमान गंगा जल आस्था का प्रतीक तो है की साथ में इसके कई धार्मिक लाभ भी हैं. जिसका जिक्र खुद विष्णु पुराण में किया गया है.

गंगा जल
गंगा जल

Ganga River का जल विशेष माना जाता है. पूजा-पाठ से लेकर धर्म-कांडों तक इसका इस्तेमाल बेहद शुभ होता है. इस बात का दावा किया जाता है कि गंगा जल कभी खराब नहीं होता. क्योंकि इसकी शुद्धता और पवित्रता लंबे समय तक इसे बनाये रखती है.

शास्त्रों में कहा गया है कि गंगा का जन्म भगवान विष्णु के चरणों से हुआ था. साथ ही गंगा में स्नान, पूजा और दर्शन करने से जीवन के पाप का नाश हो जाता है और इंसान को पूण्य की प्राप्ति होती है. बता दें कि गंगा के जल का रोज प्रयोग करने से बीमारियां दूर हो जाती हैं. गंगाजल को मिलाकर कई सारी दवाइयां भी बनाई जाती हैं.

Azab Gazab
photo credit-Ashoka News

हिंदू धर्म के अनुसार गंगा नदी के किनारे स्थित तीर्थ स्थनों को बेहद पवित्र माना जाता है. मान्यता है की गंगा किनारे बसे तीर्थ स्थानों का एक बार दर्शन जरुर करना चाहिए, जिससे सौभाग्य बना रहता है. और जीवन से अन्धकार दूर हो जाता है.

‘Thomas Gray’ के बारे में जानिए रोचक तथ्य

Tags
Show More
Close
Close