Take a fresh look at your lifestyle.

George Fernandes : देश के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का निधन, जानिये रोचक जानकारी

पूर्व रक्षामंत्री जॉर्ज फर्नांडीस का मंगलवार को 88 वर्ष की उम्र में देहांत हो गया. जानकारी के अनुसार जॉर्ज फर्नांडीस बीते कुछ समय से स्वाइन फ्लू नामक बीमारी से पीड़ित चल रहे थे. पूर्व रक्षामंत्री के निधन की जानकारी मिलते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर सभी बड़े नेताओं ने शोक व्यक्त किया है. जॉर्ज फर्नांडीस आपातकाल के दौरान विरोध में स्वर उठाने वाले लोगों में से एक माने जाते रहे हैं. दिवंगत पूर्व रक्षामंत्री जॉर्ज फर्नांडीस के जीवन के बारे में जानें

Source-Outlook India

1. जॉर्ज फर्नांडीस का जन्म 3 जून साल 1930 को कर्नाटक के मंगलूरु में हुआ था.

2. छह भाई-बहनों में सबसे बड़े जॉर्ज फर्नांडीस ने पिता की इच्छा के विरुद्ध 12वीं के बाद पढ़ाई बंद कर दी थी.

3. पिता की जिद के बाद आगे की पढ़ाई के लिए जॉर्ज फर्नांडीस वर्तमान बंगलुरु में रोमन कैथोलिक चर्च में गये जहां उन्होंने लगभग ढ़ाई साल का समय बिताया.

4. चर्च में ढ़ाई साल का समय बिताने के बाद जॉर्ज फर्नांडीस नौकरी की तलाश में बंबई चले गये.

5. जॉर्ज फर्नांडीस ने बंबई में एक अखबार में प्रूफरीडर के तौर पर काम किया. जानकारी के अनुसार कुछ दिनों पर जॉर्ज फर्नांडीस बंबई में फुटपाथ पर भी सोए थे.

6. संयोगवश रोममनोहर लोहिया के संपर्क में आने के बाद जॉर्ज फर्नांडीस ने समाजवादी व्यापार संघ में काम किया और वहां के सक्रिय सदस्य बन गये.

7. साल 1950 के दौर में बंबई में हुए श्रमिक आंदोलनों में जॉर्ज फर्नांडीस ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

8. साल 1967 में नेशनल कांग्रेस के कद्दावर नेता सदाशिव कनौजी पाटिल के खिलाफ चुनाव लड़ने के बाद जॉर्ज फर्नांडीस चर्चा में आ गये थे. जिसमें जीतकर वो पहली बार सांसद बने थे.

9. साल 1969 में जॉर्ज फर्नांडीस को संयुक्त समाजवादी पार्टी का सचिव नियुक्त किया गया जिसके बाद से साल 1970 में उन्हें चेयरमैन बनाया गया.

10. साल 1974 में ऑल इंडिया रेलवे स्ट्राइक का नेतृत्व करने के बाद जॉर्ज फर्नांडीस ऱाष्ट्रीय स्तर पर चर्चा में आ गये.

11. एमनेस्टी के अनुसार इस हड़ताल में लगभग 30 हजार से अधिक कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया था जिसमें जॉर्ज फर्नांडीस भी शामिल थे.

12. साल 1975 में इंदिरा गांधी द्वारा लगाए गए आपातकाल के दौरान उन्होंने कड़े स्वरों में अपना विरोध प्रकट किया था और तानाशाही के खिलाफ झुकने से मना कर दिया था.

13. आपातकाल के बाद मुजफ्फरसीट से जॉर्ज फर्नांडीस एक बार फिर संसद पहुंचे थे.

14. मोरार जी सरकार में उन्हें उद्योग मंत्री तो वहीं वी पी सिंह सरकार में उन्हें रेलमंत्री का पद दिया गया.

15. 1998 में उन्हें रक्षामंत्री का पद दिया गया. कारगिल युद्ध के समय जॉर्ज फर्नांडीस ही रक्षामंत्री का पद संभाल रहे थे.

रक्षामंत्री
Source-Punjab Kesari

16. जानकारी के अनुसार आपातकाल में जॉर्ज फर्नांडीस ने सिखों का रूप रखकर अपना बचाव किया था.

17. जॉर्ज फर्नांडीस ने साल 1967 से लेकर साल 2004 के बीच 9 बार लोकसभा जीतकर संसद में अपनी सीट सुनिश्चित की थी.

18. साल 2003 में कैग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए विपक्ष ने जॉर्ज फर्नांडीस पर ताबूत घोटाले का आरोप लगाया था. जॉर्ज फर्नांडीस ने इसके बाद विपक्ष को संसद में इस्तीफा देने की चुनौती दी थी लेकिन कोई भी उनकी भूमिका साबित नहीं कर पाया. साल 2015 में सुप्रीप कोर्ट ने जॉर्ज फर्नांडीस को रिहा कर दिया.

19. रक्षामंत्री के पद पर रहते हुए जॉर्ज फर्नांडीस ने 30 बार से ज्यादा सियाचीन ग्लेशियर का दौरा किया जो कि एक रिकॉर्ड माना जाता है.

20. जॉर्ज फर्नांडीस के निवास पर कोई भी सुरक्षाकर्मी तैनात नहीं रहता था.

स्वाइन फ्लू क्या है, स्वाइन फ्लू के लक्षण क्या है और स्वाइन फ्लू का उपचार क्या है

Comments are closed.