Take a fresh look at your lifestyle.

Happy Birthday : कई भाषाओं के ज्ञानी है शंकर महादेवन, ब्रेथलेस गाने से हुए सुपरहिट

शंकर महादेवन का सबसे फेमस गाना है ब्रेथलेस

सुनो गौर से दुनिया वालों, तुझे सब है पता मेरी मां, कजरा-रे, देशी गर्ल, इंडिया वाले, आई लव माई इंडिया जैसे सुपरहिट गानों को आवाज देने वाले शंकर महादेवन बॉलीवुड में एक म्यूजिक कम्पोजर हैं जिसमें तीन लोगों का एक ग्रुप है जिसका नाम शंकर, एहसान, लॉय है ये तीन जब मिलते हैं तो बड़े-बड़े गानों का जन्म होता है. महादेवन ने चार बार राष्ट्रीय पुरूस्कार, तीन बार बेस्ट मेल प्लेबैक सिंगर और बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर के लिए अवार्ड से सम्मानित हो चुके हैं. उन्होने एक ऑनलाइन म्यूजिक एकेडमी के जरिये दुनिया भर के छात्रों को संगीत की शिक्षा देते हैं.

शंकर महादेवन जैसा शायद ही कोई हो…

1. शंकर महादेवन का जन्म 3 मार्च, 1967 में चेम्बूर, मुम्बई में हुआ था. उन्हे बचपन से ही संगीत का शौक था, उन्होंने बहुत छोटी सी उम्र से भारतीय संगीत और कर्नाटिक संगीत की शिक्षा लेनी शुरू कर दी थी. महादेवन महज पांच साल की उम्र से ही वीणा बजाने लगे थे.

2. महादेवन ने अपनी शुरूआती पढ़ाई चेम्बूर के ओएलपीएस स्कूल से की. उसके बाद उन्होंने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री प्राप्त की. वह हिंदी फिल्मों के अलावा तमिल, तेलुगु, मलयालम, कन्नड़, मराठी में भी गाते हैं.

3. शंकर ने संगीता से शादी की और उनके दो बेटे हैं. बड़ा बेटा सिद्धार्थ महादेवन है जिसने भाग मिल्खा भाग का हिट गाना ‘जिंदा’ गाया और इसी के साथ बॉलीवुड में डेब्यू किया.

4. महादेवन के करियर की शुरुआत उनकी पहली एल्बम ब्रेथलेस साल 1998 में हुई. उनकी यह एल्बम काई प्रसिद्ध हुई साथ ही इस एल्बम के जरिये उन्हें हिंदी सिनेमा में पहचाना जाने लगा.

5. उसके बाद उन्होंने अपने दो दोस्त एहसान और लॉय के साथ मिलकर एक ट्राईओ बना लिया. मादेवन को उनका पहला नेशनल पुरुस्कार ए.आर रहमान के साथ तमिल मूवी कांदोकंदनीं-कांदोकंदनीं के लिए मिला था.

6. दूरदर्शन पर स्कूल चले हम का निर्देशन महादेवन ने किया था. वह जीटीवी म्यूजिकल रियलिटी शो सारे-गा-मा-पा चैलेंज-2009 में जज भी बन चुके हैं.

7. इसके अलावा वह स्टार प्लस के शो म्यूजिकल महा मुकाबला में मेंटर, जज बनकर भी आ चुके हैं. इसके साथ ही इस शो में उनकी टीम भी विजयी हुई थी.

8. साल 2011 में महादेवन ने शंकर महादेवन ऑनलाइन अकेडमी की शुरुआत की. इस ऑनलाइन अकेडमी के जरिये शंकर दुनिया भर के छात्रों को संगीत की शिक्षा देते हैं.

9. शंकर-एहसान-लॉय के म्यूजिशियन ग्रुप को कई बार अवार्ड्स से सम्मानित किया गया जिसमें फिल्मफेयर, स्टारस्क्रीन और आर डी बर्मन अवार्ड शामिल है.

शंकर महादेवन

10. दिल चाहता है, कल हो ना हो, मिशन कश्मीर, कभी अलविदा ना कहना, बंटी और बबली, पुकार, बीवी न-1, तारे जमीन, डॉन, माइ नेम इज खान, हाउसफुल जैसी सुपरहिट फिल्मों के लिए म्यूजिक कम्पोज किया.

11. शंकर को साल 2004 में फिल्म कल हो ना हो के लिए सर्वश्रेष्ठ म्यूजिक का नेशनल अवार्ड मिला है.

यह भी पढ़ें : भोजपुरी फिल्म “पाकिस्तान से बदला” मचा रही है धमाल

Comments are closed.