Covid 19 New Strain : कोरोना के नए वैरिएंट के लिए कितना तैयार है भारत

इंग्लैंड में कोरोना वायरस का नए टाइप का स्ट्रेन मिला है जिसके बाद से कोविड-19 को लेकर चिन्ता बढ़ गयी है. इसके बाद से ही कई देशों ने इंग्लैड से आने-जाने वाली उड़ाने रद्द कर दी हैं. रविवार को ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा था कि यह नया स्ट्रेन संक्रमण के मामले में ‘नियंत्रण से बाहर है’. प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इंग्लैंड के कई हिस्सों में वायरस के नए स्ट्रेन के मिलने की पुष्टि की थी. पिछले कुछ वक्त में ब्रिटेन में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं, जिसके बाद लगभग 31 फीसदी जनता फिर से लॉकडाउन में चली गई है.

कोरोना का नया स्ट्रेन मिलने और संक्रमण के मामलों में तेजी आने से चिंता में पड़े भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को ज्वाइंट मॉनिटरिंग ग्रुप की मिटिंग बुलाई.

स्वास्थ्य मंत्री डॅा. हर्षवर्धन ने India Science Festival के दौरान मीडिया से वायरस के नए टाइप को लेकर उठे सवालों पर कहा कि ‘सरकार हर बात के लिए पूरी तरह सजग है और जैसे पिछले 1 साल में आपने देखा कि सरकार ने जरूरत के अनुसार जनता के हितों की रक्षा करने के लिए जो भी जरूरी था, वह सब किया. वो सारी चीजें सरकार देख रही है लेकिन अभी अगर आप मुझसे पूछें तो इतना पैनिक करने का कोई कारण नहीं है.’

covid-19
source-goggle

भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को एक दस्तावेज जारी किया, जिसमें कहा गया है कि यूरोपीय सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के अनुमान के मुताबिक यह नए तरह का कोरोना वायरस युवा आबादी को अधिक प्रभावित करने वाला है.

यह नया स्ट्रेन 17 बदलावों के समूह द्वारा परिभाषित किया गया है. यह स्पाइक प्रोटीन में एक एन 5019 म्यूटेशन है. यह वायरस मानव एसीई2 रिसेप्टर को बांधने के लिए उपयोग करता है. स्पाइक प्रोटीन के इस हिस्से में परिवर्तन के परिणाम स्वरुप वायरस अधिक संक्रामक हो सकता है और लोगों के बीच अधिक आसानी से फैल सकता है.

पर इस नए स्ट्रेन के बारे में अभी पूरी जानकारी नहीं हासिल हुई है और यह नया स्ट्रेन कितना खतरनाक है इस बारे में भी जानकारी अभी अधूरी है.