हार्ट अटैक का खतरा युवाओं में क्यों बढ़ रहा है, जानिये कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

बिग बॉस 13 के विनर सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla) की हार्ट अटैक (Heart attack) की वजह से मौत हो गई. सिद्धार्थ सिर्फ 40 साल के थे. जिसने भी सिद्धार्थ के निधन की खबर सुनी उन्हें यकीन नहीं हो पा रहा है कि इतने कम उम्र, फिट बॉडी, खुशहाल जिंदगी के बावजूद हार्ट अटैक आ सकता है. आखिर फिट और कम उम्र के युवा कैसे हार्ट अटैक (Heart attack) के शिकार बन जाते हैं? भारत में कम उम्र में हार्ट अटैक (Heart attack) आना अब सामान्य बात हो गई है. अन्य देशों के मुकाबले भारत में हार्ट अटैक 8 से 10 साल पहले ही आ जाता है.

हार्ट अटैक क्या है (what is heart attack)

हार्ट में ब्लड की सप्लाई तीन तरफ से होती है. जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने लगती है तो हार्ट की नसों में ब्लॉकेज होने लगता है. अगर 40 प्रतिशत तक ब्लॉकेज है तो घबराने की बात नहीं है लेकिन जब यह ब्लॉकेज 70 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ जाता है. तब हार्ट में पहुंचने वाला ब्लड का फ्लो धीमा हो जाता है और ब्लड की पंपिंग बंद हो जाती है. इसे ही हार्ट अटैक आना कहते हैं.

Heart Attack
Source- News18

कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण जरूरी

हार्ट अटैक आने का प्रमुख कारण शरीर में कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना है. कोलेस्ट्रॉल के लिए शुगर, बीपी, मोटापा और स्मोकिंग जिम्मेदार हैं, कुछ मामलों में हार्ट अटैक आनुवांशिक भी होता है. इसके अलावा ब्रेन मे ब्लीडिंग, ज्यादा ड्रग्स लेने, वायरल इंफेक्शन या दिल से जुड़ी बीमारियों के कारण भी हार्ट अटैक आने के चांसेज ज्यादा होता है.

युवाओं को है ज्यादा खतरा-

एक रिपोर्ट के मुताबिक दिल से जुड़ी बीमारियों के कारण दुनिया भर में 1 करोड़ 70 लाख लोगों की हर साल मौत हो जाती है. वहीं भारत में 30 लाख लोग हर साल हृदय रोग यानी Cardiovascular disease का शिकार बनते हैं.

देश में हार्ट अटैक के अधिकत्तर मामले 50 साल से कम उम्र लोगों में आते हैं. साल 2000 से साल 2016 के बीच 50 साल से कम उम्र के लोगों में हर साल हार्ट अटैक की औसत दर में 2 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

Heart attack
Source- Nai Dunia

प्रीमैच्योर हार्ट अटैक क्या है (Premature Heart Attack)

कई बार ऐसी खबरे सुनने को मिलती हैं कि किसी व्यक्ति को बिना किसी लक्षण के अचानक हार्ट अटैक आ जाता है और अस्पताल पहुंचने से पहले उसकी मौत हो जाती है. इसे ही प्री मैच्योर हार्ट अटैक कहते हैं. हालांकि हार्ट अटैक आने से पहले कई तरह के लक्षण देखने को मिलते हैं. जैसे सीने में दर्द, भारीपन और जकड़न, हाथों में दर्द और पसीना होना.

युवाओं को हार्ट अटैक क्यों आता है

50 प्रतिशत हार्ट अटैक के मामलों में मरीजों की उम्र 50 साल से कम है. हार्ट से संबंधित ज्यादात्तर बीमारियों के लिए तंबाकू जिम्मेदार होता है. रिपोर्ट्स के मुताबिक 30 साल से 40 साल तक के लोगों में 26 प्रतिशत बीमारियां स्मोकिंग करने से होती है. इसके साथ ही युवा तनाव और नींद न आने की समस्या से जूझ रहे हैं.

हार्ट अटैक से कैसे बचे

हार्ट अटैक से बचने का सबसे कारगर तरीका है, अपनी लाइफस्टाइल में सुधार करना. वॉकिंग, साइकिलिंग, स्विमिंग करने से हार्ट अटैक आने के खतरे को 30 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है.

इसके अलावा डॉक्टर्स फास्ट फूड की जगह हेल्दी खाना खाने की सलाह देते हैं. स्मोकिंग और शराब के सेवन से बचना चाहिए. अपनी लाइफ स्टाइल में योग और एक्सरसाइज को शामिल करें.

Sidharth Shukla: सिद्धार्थ शुक्ला के निधन से सदमें में हैं शहनाज