Take a fresh look at your lifestyle.

Beauty with Brain: Hedy Lamarr जिसकी खोज ने बदल दी दुनिया

9 Nov. 1914 को ऑस्ट्रिया में जन्मी बेहद ख़ूबसूरत “Eddie Kiesa” ने  महज  16 साल की उम्र में ऑस्ट्रिया छोड़कर बर्लिन जाने का फैसला किया जो की उस वक्त यूरोपियन फिल्म इंडस्ट्री का हार्ट था. 1932 में एडी ने उस वक्त की सबसे कंट्रोवर्सिअल फिल्म में लीड रोल किया जिसे जर्मनी और यूएसए में बैन भी कर दिया गया था.

1937 में  Eddie Kiesa अपने कई प्रयासों के बाद अपने फ़ासिस्ट पति को छोड़कर भाग पाने में सफल हो पाईं.  जिसके बाद Eddie Kiesa ने  “Hedy Lamarr “ के नाम से शुरू किया अपना हॉलीवुड का सफर.

हालाँकि….ये सारी कहानियां किसी और दिन के लिए….

“Hedy Lamarr” जब हॉलीवुड पहुँची वे महज़ 22 साल की थीं और तैयार थीं हॉलीवुड को जीतने के लिए.  Hedy  Lamarr  जिनको दुनियां की सबसे खूबसूरत महिला कहा गया उनकी खूबसूरती और अभिनय ने उन्हें रातों रात स्टार बना दिया.

लैमर न तो शराब पीती थीं न ही उनको पार्टियां पसंद थीं पर जो बात दुनियां और उनके फैंस को नहीं मालूम होगी वो ये की उनका रुझान साइंस की तरफ काफी गहरा था. अमेरिका के द्वितीय विश्व युद्ध में शामिल होने के बाद लैमर की मुलाकात  “हावर्ड ह्यूजेस” से हुई और उन्होंने पक्षियों और मछली की शारीरिक सरंचनाओं से प्रेरणा लेकर एक अधिक तेज़ी से उड़ने वाले Air Plane का डिज़ाइन तैयार किया.

उसके बाद उन्होंने अमेरिकन नेवी की मदद के लिए म्यूजिशियन “जॉर्ज अनथिएल” के साथ मिलकर  सबमरीन को डिस्ट्रॉय करने वाली मिसाइल के लिए एक ऐसा कंट्रोलिंग सिस्टम तैयार किया जिसको कंट्रोल करने के लिए जिन सिगनल्स का उसे लिया जाता था. उसको कई जगहों से रैंडम्ली चेंज किया जा सके जिससे दुश्मन सिग्नल को जैम न कर पाएं.  दुर्भाग्यवश नेवी को उनकी ये थ्योरी और आईडिया इस्तेमाल करने लायक नहीं लगा क्यूंकि वे एक एक्ट्रेस पर यकीन नहीं कर पा रहे थे.इससे हताश होकर वो अपनी उसी लाइफ में वापस लौट आयीं और साल 1949 में उनकी फिल्म “Samson and Delilah” ने उनके एक्टिंग करियर को नयी ऊंचाइयों पर पहुंचा दिया पर जैसे जैसे उनकी उम्र ढलने लगी. उनकी खूबसूरती फीकी पड़ने लगी जिसकी वजह से उन्होंने कई प्लास्टिक सर्जरी करवायीं जो उनके चेहरे के लिए बिलकुल फायदेमंद नहीं हुईं धीरे धीरे उनकी लोकप्रियता घटने लगी और एक वक्त की महान एक्ट्रेस कहीं गुम हो गयीं.Hedy Lamarr लेकिन कुछ ही सालों में एक बड़ा बदलाव आया बदलाव जो मोबाइल फोन्स अपने साथ लेकर आये. मोबाइल फोन निर्माताओं को ज़रूरत थी एक ऐसे तरीके की  जिससे लोग बिना किसी रूकावट के बिना किसी  टकराव के वायरलेस सिग्नल्स का उपयोग करके आपस में बात कर पाएं उन्होंने एक तरीका चुना जिसे हम CDMA के नाम से जानते हैं जो की लैमर की ही खोज पर आधारित था. लैमर  एक बार फिर से चर्चा में थीं लेकिन इस बार not for “BEAUTY” but for “BRAIN“.
अपने जीवन के अंतिम दिनों में उनके कहे हुए कुछ शब्द:
“I’ll read you something pretty”

People are unreasonable, illogical and self – centered. Love them Anyway!!
If you do good, people will accuse you of selfish alternative motives. Do good  Anyway!!
The biggest people with the biggest ideas can be shot down by the smallest people with the smallest minds. Think big  Anyway!!
What you spend years building may be destroyed overnight.  Build Anyway!!
Give the world the best you have and you’ll be kicked into the teeth. Give the world the best you’ve got Anyway!!

Leave A Reply