Take a fresh look at your lifestyle.

Mahashivratri 2019 : इस दिन पड़ेगा महाशिवरात्रि का त्यौहार, जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त

इस साल महाशिवरात्रि पर है शुभ मुहूर्त

फाल्गुन के महीने में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि (Mahashivratri) का पर्व पूरा देश मनाता है. इसी दिन माता पार्वती और शंकर जी का विवाह हुआ था. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक इस साल शिवरात्री 4 मार्च सोमवार को मनाय जाएगा है. सोमवार शिव जी का दिन होता है और इस हिसाब से ये दिन शिवरात्रि के लिए बहुत ज्यादा खास है. तो इसरे बारे में आपको जरूर पढ़ लेना चाहिए, अगर आप पहली बार शिवरात्रि का व्रत रखने वाले हैं तो.

Mahashivratri में इस तरह करें शिवजी की पूजा :

Mahashivratri

भगवान शिव इस जग के पिता माने जाते हैं और पार्वती जी को माता का दर्जा दिया गया है. इस महापर्व का सोमवार के दिन पड़ना अपने आप में बहुत खास है. श्रवण नक्षत्र और सोमवार का दिन बन रहा है तो इस लिए ये बहुत ही शुभ संयोग है. इस साल शिवरात्रि का ये पावन पर्व श्रवण नक्षत्र में पड़ेगा और श्रवण का स्वामी चंद्रमा होता है. इस दिन सर्वार्थसिद्धि योग भी है और चंद्रमा भगवान शिव के मस्तक पर शोभित भी होता है. इस प्रकार यह तीन महासंयोग अद्भुत है जो बहुत ही मुश्किल से मिलता है और इस प्रकार इस साल यह महापर्व बहुत ही मंगलकारी माना जा रहा है.

अब अगर महाशिवरात्रि के पूजन के शुभ मुहूर्त की बात करें तो इस दिन शिवरात्रि शुरु होती है और समाप्त होने तक शिवजी की पूजा कर सकते हैं. यह बात बहुत ही वैदिक और पौराणिक है और इसमें विशेष मुहूर्त में हम अभिजीत, अमृत काल या विजय मुहूर्त को शामिल कर सकते हैं. यहां तक कि राहुकाल के समय भी भगवान का अभिषेक रात्रि में भी कर सकते हैं.

महाशिवरात्रि के दिन ऐसे करें रुद्राभिषेक :

1. गाय के दुग्ध से रुद्राभिषेक करने से संपन्नता आती है तथा मन में की गई मनोकामना पूर्ण होती है.

2. जो लोग रोग से पीड़ित हैं तथा प्रायः अस्वस्थ रहते हैं या किसी गंभीर महा बीमारी से परेशान हैं उनको कुशोदक से रुद्राभिषेक करना चाहिए. कुश को पीसकर गंगा जल में मिला लीजिए फिर भगवान शिव का नियम तथा श्रद्धा पूर्वक रुद्राभिषेक करें.

3. धन प्राप्ति के लिए देसी घी से रुद्राभिषेक करें.

4. निर्विध्न रूप से किसी विशेष उद्देश्य की पूर्ति के लिए तीर्थ स्थान के नदियों के जल से रुद्राभिषेक करें. इससे भक्ति भी प्राप्त होती है.

5. गन्ने के रस से रुद्राभिषेक करने से कार्य बाधाएं समाप्त होती हैं तथा वैभव और सम्पन्नता में वृद्धि होती है.

6. शहद से रुद्राभिषेक करने से जीवन के दुख समाप्त होते हैं तथा खुशियां आती हैं.

7. किसी शिव मंदिर में शिवलिंग पर रुद्राभिषेक करें या घर पर ही पार्थिव का शिवलिंग बनाकर रुद्राभिषेक करें.

यह भी पढें : मलाइका अरोड़ा ने किया अर्जुन कपूर को लेकर बड़ा खुलासा, अर्जुन भी नहीं जानते थे ये SECRET

Comments are closed.