Take a fresh look at your lifestyle.

न्यूजीलैंड-ऑस्ट्रेलिया में जीतकर भारत ने दी है सभी टीमों को चेतावनी

टीम इंडिया ने 2019 की शुरुआत धमाकेदार तरीके से की है. टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को चौथे वनडे मैच में 35 रनों से हराकर वनडे सीरीज 4-1 से अपने नाम कर ली. इससे पहले भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में हराया और बाद में न्यूजीलैंड को भी शिकष्त देकर टीम इंडिया ने दुनिया की बड़ी टीमों को कड़ा संदेश दिया है.

India vs NZ

ऑस्ट्रेलिया से ज्यादा खतरनाक टीम थी न्यूजीलैंड

न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज जीतना ऑस्ट्रेलिया के मुकाबले ज्यादा कठिन था क्योंकि कीवियों को उनके घर में इस तरह हराना आसान नहीं है. न्यूजीलैंड की टीम अपने घर में एक खतरनाक टीम है. ICC रैंकिंग के लिहाज से भी वो ऑस्ट्रेलिया से बेहतर टीम है.

वर्ल्ड कप से पहले शानदार फॉर्म में है भारत

ICC वर्ल्ड कप 2019 के पहले भारत का ये शानदार फॉर्म टीम के लिए एक टॉनिक का काम करेगी. दुनिया की बाकी क्रिकेट टीमों के लिए ये एक चेतावनी भी है. चेतावनी इस बात की कि विश्व कप में भारत को रोकना किसी के बस की बात नहीं है.

IND vs NZ

भारत का टीम एफर्ट है शानदार

न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी वनडे मैच इसलिए खास है कि चौथे मैच में टीम इंडिया बुरी तरह हारी थी. पांचवें मैच में भी उसकी शुरुआत खराब हुई थी. बावजूद इसके पूरी टीम कीवियों पर भारी पड़ी. 18 रन पर चार विकेट गंवाने के बाद टीम इंडिया ने स्कोरबोर्ड पर 252 रन जोड़े और ये मुकाबला 35 रनों से जीता. वेलिंगटन वनडे में बाद में बल्लेबाजी करना आसान था. 253 रनों का लक्ष्य कहीं से मुश्किल नहीं था लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने अपने जोश और जज्बे से कीवियों को झुकने पर मजबूर किया.

भारतीय गेंदबाजों का विश्व में नहीं है कोई सानी

न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज की जीत में भारतीय गेंदबाजों की जितनी तारीफ की जाए वो कम है. भारतीय गेंदबाजों ने पूरी सीरीज में न्यूजीलैंड को एक भी मैच में ढाई सौ रनों का आंकड़ा नहीं पार करने दिया. आधुनिक वनडे क्रिकेट में अगर कोई टीम पूरी सीरीज में ढाई सौ रनों के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच पा रही है तो ये उसके लिए चिंता की बात है. भारतीय गेंदबाजों का जलवा ये आंकड़े भी दिखाते हैं.

ऑस्ट्रेलिया
IND vs NZ

न्यूजीलैंड में भारतीय गेंदबाजों के आकड़े

शमी ने जहां 4 मैचों में 4.75 की इकॉनमी रेट से 9 विकेट लिए वहीं भुवनेश्वर ने भी 5 मैचों में 5.00 की इकॉनमी से 7 लिए हैं. अगर स्पिनरों की बात के तो चहल ने 5 मैचों में 5.34 की इकॉनमी से 9 विकेट हासिल किए हैं. इसके बाद कुलदीप ने 4 मैचों में 4.31 की इकॉनमी से 8 विकेट चटकाए हैं

Comments are closed.