Take a fresh look at your lifestyle.

सामने वाला क्या सोच सकता है, ये समझने के लिए आपको बताते हैं interesting फैक्ट

हाव - भाव से ही बता सकते हैं आखिर इंसान के मन में चल क्या रहा है

Azab Gazab, Azab Gazab News in Hindi, Azab Gazab Daily News, Azab Gazab Latest News, Latest Azab Gazab News, Azab Gazab News in Hindi
हर इंसान  का दिमाग अलग होता है ,तो दिमाग के हिसाब से हर किसी के सोचना का तरीका भी अलग होता है ये सब इंसान की मानसिकता पर निर्भर करता है कि वो किस बात पर कैसे रिएक्ट करे इंसान कब क्या और कैसे सोचता है ये सब उसके मूड पर निर्भर करता है.
इसलिए हम अपने आसपास अलग -अलग व्यव्हार के लोगों को देखते हैं कुछ लोगों  को गुस्सा बहुत जल्दी आता है तो कुछ लोग गुस्से को कंट्रोल करने के लिए ख़ुशी का रास्ता ढूंढते हैं कभी -कभी ऐसा भी होता है कि हम अपने सामने बैठे इंसान के हाव-भाव और बातों  को समझ नहीं पाते ऐसे में हमारे मन में प्रश्न उठते रहते हैं आखिर सामने वाले के दिमाग में चल क्या  रहा है
आज हम आपको कुछ ऐसे फैक्ट्स के बारे में बताते हैं जो ह्यूमन साइकोलॉजी से जुड़े हो जिनसे काफी हद तक ये पता चल सकता है आखिर सामने वाले मन में क्या सोच रहा है

1-अगर कोई व्यक्ति अजीबोगरीब चुटकले पर हंसता है तो, समझ लेना कि वो अकेला है, अपने अकेलेपन को छिपाने के लिए ऐसा कर रहा है.

Azab Gazab
Azab Gazab
2. 97 % लोगों का मानना है कि अगर कोई नया पेन लिया तो उससे सबसे पहले अपना नाम लिखना ही अच्छा होता है.

3.कॉमेडियन या मज़ाकिया लोग दूसरों के मुकाबले ज्यादा उदास रहते हैं.

4. आजकल के बच्चों में जितनी चिंता दिखाई देती है, उतनी चिंता वालों को सन् 1150 में मानसिक रोगी माना जाता था.

5.आजकल के लोग बहुत जल्दी नकारात्मक हो जाते हैं ऐसे में नकारात्मक विचारों को अपनी ज़िन्दगी से दूर करना हो तो उन्हें लिखकर कूड़े दान में फेंक देना चाहिए इससे मूड अच्छा हो जाता है.

6.ये जरूरी नहीं होता कि फर्स्ट इम्प्रैशन मिनटों में या कुछ बातचीत करके ही बनता है, मनोवैज्ञानिकों के मुताबिक फर्स्ट इम्प्रैशन 7 सेकंड में होता है.

7. जो लोग ज्यादा हंसते हैं वो ज्यादा दर्द सहन कर पाते हैं.

8. ऑरेंज खाने से vitamin c मिलता है जिससे स्ट्रेस काम होता है इसलिए डॉक्टर्स काम पर जाने से पहले ऑरेंज खाने की सलाह देते हैं.

9. ये ज्यादातर हर किसी के साथ होता है इंसान किसी चीज़ को करते समय उतना खुश नहीं होता जितना बाद में जब उसको बाद याद आती है तो बातों को याद करके होता है.

10. आम इंसान की तरह लड़कियों के भी हर इंसान के साथ अलग -अलग हाव-भाव होते हैं , अगर कोई लड़की किसी लड़के को पसंद करती है तो उससे बात करते वक़्त अपने बालों को सहलाती

11. 7 सकारात्मक टिप्पणियां 1 नकरात्मक टिप्पणी के प्रभाव को बेअसर कर देती हैं .

12. आम तौर पर सबको यही लगता है कि हम जो सोचते हैं उसका हमारे शरीर के अंग पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता , पर आपका ये सोचना गलत है  क्योंकि हम जो सोचते हैं उसका 90 % हमारे मूड पर असर होता है, कई बार जब हमारे दिमाग की मॉसपेशियों पर जोर पड़ता है तो इससे हमारे शरीर के बाकी अंगों में भी दर्द होने लगता है.

Comments are closed.