दुनिया के सात सबसे ठंडे शहर, जहाँ लोगों को सूरज तक देखना नसीब नहीं होता

दिसम्बर की शुरुआत में ऐसा लग रहा था कि जलवायु परिवर्तन की वजह से इस बार ठंड आएगी ही नहीं. लेकिन तीसरा सप्ताह आते-आते तापमान में तेजी से गिरावट आया और ठंड का प्रकोप देखने को मिला. कई राज्यों में तो शीतलहर ने भी अपना कहर बरपाया है.

भारत के ज्यादातर शहरों में बहुत अधिक ठंड होने पर तापमान 3 से 4 डिग्री सेल्सियस तक जाता है. हमारे लिए यही ठंड का यही पैमाना है. जनवरी के महीने में तो हमारे यहाँ औसत और भी घट जाता है. इतनी ही ठंड से बचने के लिए ना जाने हमें कौन-कौन से उपाय करने पड़ते हैं.

लेकिन दुनिया में कुछ ऐसे भी शहर हैं जहाँ ठंड सारी हदों को पार कर अपनी चरम सीमा पर पहुँच जाता है. कई शहरों का तापमान तो -40 डिग्री सेल्सियस तक पहुँच जाता है.

जरा सोचिए वहाँ के लोगों की जिन्दगी कैसी होती होगी. वहाँ के लोगों को इस ठंड से बचने के लिए क्या-क्या करना पड़ता होगा. तो आइए जानते दुनिया के सात सबसे ठंडे शहरों के बारे में.

कनाडा से लेकर कजाकिस्तान तक ये दुनिया के सबसे ठंडे शहर हैं-

1.अस्ताना, कजाकिस्तान

Image source : Google

अस्ताना आज के एक आधुनिक और खूबसूरत शहरों में से एक है. ये शहर अपने फ्यूचरिस्टिक वास्तुकला, चमचमाती मस्जिदों, शाॅपिंग और छुट्टियाँ बिताने के लिए जाना जाता है. हालांकि अस्ताना में गर्मी के महीने गर्म होते हैं लेकिन यहाँ की सर्दियां लंबी और असाधारण रूप से ठंडी होती हैं.

इस शहर में सबसे कम तापमान -51.5 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया जा चुका है. नवंबर के मध्य से लेकर अप्रैल की शुरुआत तक इस शहर की नदियाँ जमी रहती हैं. जनवरी के महीने में यहाँ का औसत तापमान -14.2 डिग्री सेल्सियस रहता है. जो इसे दुनिया के सबसे ठंडे शहरों में से एक बनाता है.

2. इंटरनेशनल फॉल्स, मिनेसोटा, यूएसए (अमेरिका)

Image source : Google

इस शहर को अमेरिका “द आइसबॉक्स ऑफ द नेशन” भी कहा जाता है. इस बात का अंदाजा इसी लगाया जा सकता है कि सर्दियों में इसका तापमान -48 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया जा चुका है. इसके अलावा इस शहर में औसतन 71.6 इंच तक मौसमी बर्फबारी होती है. इंटरनेशनल फॉल्स गर्मियों में कयाकिंग और हाइकिंग और सर्दियों में क्रॉस-कंट्री स्कीइंग और आइस-फिशिंग के लिए मशहूर है.

3. उलानबटार, मंगोलिया

Image source : Google

समुद्र तल से 4,430 फीट की ऊंचाई पर स्थित उलानबटार दुनिया की सबसे ठंडी राष्ट्रीय राजधानी है. ये शहर आपको अपने चरम मौसम का अनुभव करवाता है. क्योंकि गर्मियों के मौसम में यहाँ भीषण गर्मी पड़ती है और सर्दियों में भीषण ठंड. इतनी ऊँचाई पर होने के बावजूद गर्मियों में यहाँ का तापमान 39 डिग्री सेल्सियस तक चला जाता है. वहीं लंबे सर्दियों के महीनों के दौरान इस शहर का तापमान अपने चरम को पार करते हुए -42 डिग्री सेल्सियस तक चला जाता है.

उलानबटार अंतरराष्ट्रीय प्रवेश द्वार होने के साथ-साथ यह अपने शानदार जंगलों के लिए भी प्रसिद्ध है. उलानबटार में समृद्ध सांस्कृतिक विरासत देखने को मिलती है. यहाँ तिब्बती शैली के बौद्ध मंदिरों से लेकर भव्य एवं आकर्षक आधुनिक कला देखने को मिलती है. उलानबटार अपनी सबसे ठंडी राजधानी होने के साथ-साथ दुनिया के सबसे ठंडे शहरों में से एक है.

4. बैरो, यूएसए (अमेरिका)

Image source : Google

ये शहर अमेरिका के अलास्का में आर्कटिक सर्कल के ऊपर मौजूद है. अलास्का शहरों की तुलना इस शहर का औसत तापमान सबसे कम रहता है. 60 मील प्रति घंटे की तेज रफ्तार से लगातार बहती ठंड हवाएँ और इस शहर को हमेशा घेरे हुए बादलों के चादर इसे दुनिया के सबसे ठंडे शहरों में एक बनाता है.

यहाँ के लोग साल के मात्र 120 दिन ही सामान्य तापमान का अनुभव कर पाते हैं. और हर साल कम से कम 65 दिनों के लिए इस शहर के लोगों को सूरज देखना नसीब नहीं होता. रिकॉर्ड -49 डिग्री सेल्सियस के निम्न स्तर तक इस शहर का तापमान दर्ज किया गया है.

5. येलोनाइफ, कनाडा

Image source : Google

कनाडा का ये शहर आर्कटिक सर्कल से 250 मील की दूरी पर दक्षिण में स्थित है. कनाडा के एक पर्यावरण सर्वेक्षण में यह पाया गया था कि 100 कनाडाई शहरों में से येलोनाइफ कनाडा का सबसे ठंडा शहर है. ये शहर अपने सर्दी, शीतलहर और बर्फबारी के लिए विख्यात है.

इस शहर का अब तक का सबसे कम तापमान -51 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया जा चुका है. येलोनाइफ को एडवेंचरर्रस का मक्का कहा जाता है. लोग यहाँ आधी रात में हाइकिंग, डॉग-स्लेजिंग, स्नोमोबिलिंग जैसी गतिविधियों के लिए मशहूर है. इस शहर का नाम दुनिया के सबसे ठंडे शहरों में दर्ज है.

6. नोरिल्स्क, रूस

Image source : Google

नोरिल्स्क में 1,00,000 से अधिक लोग निवास करते हैं. यह दुनिया का सबसे उत्तरी शहर है और पर्माफ्रॉस्ट जोन में आने वाले केवल तीन प्रमुख शहरों में से एक है. इस शहर का औसत वार्षिक तापमान -10 डिग्री सेल्सियस रहता है, जबकि सर्दियों में न्यूनतम तापमान -53 डिग्री सेल्सियस तक चला जाता है. खनन उद्योग ने इस शहर को इतना प्रदूषित कर दिया है कि यहाँ खूबसूरत संग्रहालय, एक आर्ट गैलरी होने के बावजूद इस शहर को 2001 से विदेशियों के लिए बंद कर दिया गया है.

7. याकुत्स्क, रूस

Image source : Google

याकुत्स्क को दुनिया सबसे ठंडा शहर माना जाता है. यह रूस के सखा गणराज्य की राजधानी है. ये शहर आर्कटिक सर्कल से लगभग 280 मील की दूरी पर है. जनवरी में इस शहर का औसत तापमान -40 डिग्री सेल्सियस रहता है, जो इसे पृथ्वी का सबसे ठंडा शहर बनाता है.

Read: इस सदी के अंत तक डूब जाएंगे भारत के ये 12 बड़े शहर, नासा की रिपोर्ट में दावा

इस शहर का सबसे कम तापमान -64.4 डिग्री सेल्सियस तक रिकाॅर्ड किया गया है. पर्माफ्रॉस्ट किंगडम आइस म्यूजियम, क्रिश्चियन मार्केट और सखा गणराज्य का नेशनल आर्ट म्यूजियम घुमने के लिए मशहूर है.